Home अफ्रीका अफ़्रीकी देशों ने भारत में अफ़्रीकी छात्रों पर हमले को लेकर जताया...

अफ़्रीकी देशों ने भारत में अफ़्रीकी छात्रों पर हमले को लेकर जताया कड़ा विरोध

अफ्रीका के 44 देशों के राजदूतों ने भारत की तीव्र आलोचना करते हुए कहा है कि मोदी सरकार अफ्रीकी छात्रों पर होने वाले अत्याचारों को रोकने में बुरी तरह विफल हो चुकी है। अब काले विदेशी छात्रों के लिए देश को नरक बना दिया गया है।

ग्रेटर नोएडा में 12वीं कक्षा के छात्र मनीष खरी की रहस्यमय हालात में हुई मृत्यु हो गई थी। जिसके बाद उसके पड़ोस में रहने वाले 5 नाइजीरियाई छात्रों को सरेआम शॉपिंग मॉल में खूब पीटा और फिर उन्हें पुलिस के हवाले कर दिया गया। घटना में अफ्रीका के 44 देशों के राजदूतों ने आवाज उठाई है।

अफ्रीका के 44 देशों के राजदूतों ने अफ्रीकी छात्रों पर हमलों के खिलाफ भारत सरकार को कड़ा विरोध दर्ज कराते हुए संयुक्त बयान में कहा है कि अफ्रीकी छात्रों पर हमले नस्लवादी हैं और मोदी सरकार छात्रों की रक्षा में पूरी तरह विफल हो चुकी है।

राजनयिकों ने हमलों की जांच संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की ओर से कराने की मांग करते हुए कहा कि भारत सरकार ने छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कोई गंभीर कदम नहीं उठाए।

गौरतलब है कि हालिया घटना के अलावा पिछले साल नई दिल्ली में रिक्शा लेने के विवाद में कांगो के एक नागरिक की हत्या कर दी थी जबकि 2013 में गोवा में नाइजीरिया के नागरिक को मार दिया गया था।