Home यूनाइटेड स्टेट्स अमेरिका ने चीन को दी धमकी कहा ट्रिब्यूनल के फैसले को मानने...

अमेरिका ने चीन को दी धमकी कहा ट्रिब्यूनल के फैसले को मानने से इंकार “महंगा पड़ेगा”

मंगलवार को अंतर्राष्ट्रीय न्यायलय के दक्षिण सागर पर सुनाए गए फैसले को चीन ने मानने से इंकार कर दिया हैं. जिसपर आज अमेरिका ने चीन को चेतावनी देते हुए कहा है कि ‘‘बड़े देशों’ की ओर से अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन नुकसानदेह हो सकता है.”

चीन के विदेश मंत्रालय द्वारा बुधवार को एक प्रेस सम्मलेन में चीन ने अमेरिका के खिलाफ भड़काऊ भाषण दिए थे, जिस पर ऐतराज़ जताते हुए व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट ने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि यह उत्तेजक एवं भड़काउ टिप्पणियां करने का समय नहीं है. यह गहरे संघर्ष की ओर बढ़ने का समय नहीं है,  बल्कि दक्षिण चीन सागर में प्रतिस्पर्धी दावों के शांतिपूर्ण एवं राजनयिक समाधान की ओर बढ़ने का समय है.

उन्होंने कहा, ‘‘हम दक्षिण चीन सागर के जरिए होने वाले अरबों डॉलर के वाणिज्य की रक्षा करना चाहते हैं. हम विश्व के इस इलाके में पारगमन मार्गों एवं नौवहन के मार्गों की रक्षा करना चाहते हैं और हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि ये प्रतिस्पर्धी दावे किसी प्रकार के सैन्य संघर्ष में नहीं बदलें.’

अर्नेस्ट ने कल कहा था कि ‘‘हमें दुनिया की सफलता सुनिश्चित करने लिए कुछ नियमों का पालन किया जाना आवश्यक है. यदि बड़े देश इन नियमों का उल्लंघन करने और अपनी ताकत जताने की इच्छा रखते हैं तो यह नुकसानदेह हो सकता है.”

अर्नेस्ट ने कहा कि “अमेरिका दक्षिण सागर के दावेदारों में शामिल नहीं है और किसी विशेष दावे का ‘‘समर्थन या विरोध’ नहीं करता, बल्कि अमेरिका ने प्रतिस्पर्धी दावे करने वालों से शांतिपूर्वक एवं कूटनीति के जरिए विवाद सुलझाने की मजबूत अपील की है”.

अंतर्राष्ट्रीय ट्रिब्यूनल ने दक्षिण सागर पर मंगलवार को फैसला सुनाया था, ट्रिब्यूनल के मुताबिक ‘नाइन-डैश लाइन’ में पड़ने वाले समुद्री क्षेत्र पर ऐतिहासिक अधिकार के दावे के लिए चीन के पास कोई कानूनी आधार नहीं है. इस फैसले के बाद चीन ने दक्षिण चीन सागर पर एयर डिफेंस ज़ोन बनाने की घोषणा कर धमकी दे डाली.

ट्रिब्यूनल के इस फैसले पर चीन के प्रधान मंत्री शी चिनफिंग ने फिलीपीन के हक़ में आये ट्रिब्यूनल के फैसले को मानने से इंकार कर दिया हैं.

Web-Title: America cautions to China over South-China-Sea decision

Key-Words: South, China, Sea, Issue, America, Threats