Home यूनाइटेड स्टेट्स डोनाल्ड ट्रम्प के कारण अमेरिका में पूँजी निवेश के इच्छुक नहीं निवेशक

डोनाल्ड ट्रम्प के कारण अमेरिका में पूँजी निवेश के इच्छुक नहीं निवेशक

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की आर्थिक नीतियो की अनिश्चता के कारण अमेरिका का पूंजीवादी वर्ग बाजार में अपनी पूंजी लाने से निराश हो गया है और इसी निराशा के चलते पूंजीपति बाजार में अपनी पूंजी का निवेश करने के इच्छुक नही है।

रायटर की रिपोर्ट अनुसार, चुनाव अभियान में किए गए ट्रम्प की ओर से वादो के दुविधा में पड़े होने के कारण अमेरिका के वित्तीय बाजारों पर अस्थिरता हावी है। ऐसी स्थिति में अमेरिका के निवेशक बाजार में अपनी पूंजी निवेश नही कर रहे है जिसके कारण अमेरिका के वित्तीय बाजार को मंदी (अवमूल्यन) का सामना करना पड रहा है।

हाल के दिनो में अमेरिका में शेयर बाजार का सूचकांक अच्छी स्थिति में नही है। ट्रम्प के सत्ता में आने के पश्चात अमेरिकी डॉलर में उछाल आया था जिसमे पुनः गिरावट आकर चुनाव के समय वाली क़ीमत से करीब हो गया है।

वर्तमान समय में अधिकांश अमेरिकी मीडिया और जनता डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा एफबीआई के प्रमुख के रूस के साथ संबंध वाले मामले की जाच से जोड रहे है। खुद यह मामला भी अमेरिका के वित्तीय बाजार की स्थिरता में वृद्धि का एक कारण है।

ज्ञात हो कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अपने चुनावी अभियान में बहुत से नारे दिए थे जिनसे आभास हो रहा था कि डोनाल्ड ट्रम्प के राष्ट्रपति बनने के पश्चात अमेरिका की आर्थिक विकास दर में वृद्धि होगी। हालाकि हाल के दिनो में ट्रम्प अपने किए हुए वादो को लागू करने में असमर्थ रहे है इसी कारण बैंकिग, मौद्रिक प्रणाली में सुधार और वृद्धि की बुनियादी सुविधाओ में अपने वादे को परिचालित न कर पाने की वजह से अमेरिका के पूंजीपति निराश है।