Home यूनाइटेड स्टेट्स चिली में नन ने कैथोलिक चर्च पर लगाया बलात्कार का आरोप, किया...

चिली में नन ने कैथोलिक चर्च पर लगाया बलात्कार का आरोप, किया मुकदमा

दक्षिण अमेरिकी देश चिली में एक नन ने एक कैथोलिक चर्च पर मुकदमा किया है. नन का कहना है कि कुछ दिन पहले उनके साथ चर्च में बलात्कार हुआ था, उसके बाद वो गर्भवती हो गयी थीं. उनके गर्भवती होने की बात सामने आने पर चर्च ने उन पर दबाव डाला कि वो चर्च छोड़कर चली जायें.

बलात्कार पीडिता इस नन ने अब संतियागो के आर्चबिशप और और सैंट क्लेयर के खिलाफ मुकदमा किया है. उनका कहना है कि उनके गर्भवती होने की बात पता चलने पर दूसरी ननों ने उनपर चर्च छोड़ देने का दबाव बनाया. नन के वकील का कहना है कि उनके साथ हुए बलात्कार के लिए चर्च और दूसरी ननों ने उन्हें ही दोषी ठहराया है.

वहीँ संतियागो के सहयोगी बिशप आर.टी. रेव जॉर्ज कोंचा का कहना है कि नन ने अपनी इच्छा से चर्च छोड़ा है. उन पर किसी ने कोई दबाव नहीं डाला है. उन्होंने कहा कि आर्चबिशप कोर और 27 मार्च के बाद की घटनाओं के बारे में पता है.

चिली के एक टेलीविज़न चैनल का कहना है कि चर्च से बहार निकाली गयी नन 2002 में 20 साल की उम्र में चर्च में आई थीं. उससे पहले वो चिली की राजधानी सैंटियागो के कान्वेंट में रहती थीं.

बताया जा रहा है कि कुछ पुरुषों को कान्वेंट में मरम्मत के काम से अन्दर आने की इजाज़त दी गयी थी. वह सभी कामगार कान्वेंट के अन्दर ही सोते थे. उनके भोजन-पानी की व्यवस्था की ज़िम्मेदारी ननों पर ही थी. इसी अवधि में उन में से एक पुरुष ने नन के साथ बलात्कार किया जिससे वो गर्भवती हो गयीं. लेकिन उन्होंने शर्म और बदनामी के डर से ये बात दूसरी ननों को नहीं बताई.

पीडिता का कहना है कि दूसरी ननों ने उनका साथ देने के बजाय उलटे उन्हें ही दोषी ठहराया और उन्हें चर्च छोड़ने के लिए कह दिया. उन्हें चर्च छोड़ने क लिए बाध्य किया गया. 2012 में आरोपी को दोषी पाया गया और अदालत ने उसे 5 साल की सजा सुनाई.

नन ने बताया कि उन्होंने एक बच्चे को जन्म दिया. उसके बाद उन्हें किसी दोस्त का सहारा चाहिए था. उन्होंने वो बच्चा एक ज़रूरतमंद को गोद दे दिया. नन ने कहा कि उनके परिवार और चर्च ने उन्हें त्याग दिया. जबकि उन्होंने इस परिस्थिति का डटकर मुकाबला किया है.