22 सितंबर को ईरान के अहवाज़ नगर में सैनिक पैरेड के दौरान जो आतंकवादी हमला हुआ था उसने एक बार फिर दर्शा दिया कि ईरानी राष्ट्र विकास और गौरव के मार्ग पर अग्रसर है और यह वह चीज़ है जो दुश्मनों को लेशमात्र भी पसंद नहीं है।

ईरान की इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामनई ने खेल में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों से भेंट में अहवाज़ में होने वाले आतंकवादी हमले की ओर संकेत किया और कहा कि प्राप्त रिपोर्टों के अनुसार यह कायर्तापूर्ण कार्य भी उन्हीं लोगों का है जब वे इराक और सीरिया में फंस जाते हैं तो अमेरिकी उन्हें मुक्ति दिलाते हैं और उनके हाथ सऊदी अरब और संयुक्त अरब इमारात की जेब में हैं।

वरिष्ठ नेता ने इसी प्रकार अंतरराष्ट्रीय मुकाबले में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को ईरानी राष्ट्र के लिए गौरव और साम्राज्यवादियों की अप्रसन्नता का कारण बताया और कहा कि हर क्षेत्र में ईरानी राष्ट्र की सफलता से साम्राज्यवादी क्रोधित होते हैं। इस आधार पर आपकी सफलता वास्तव में ईरानी राष्ट्र की सफलता और ईरान के दुश्मनों की पराजय है।

साम्राज्यवादियों की अतिक्रमणकारी कार्यवाहियों व नीतियों के मुकाबले में प्रतिरोध को इस्लामी गणतंत्र ईरान अपना परमदायित्व समझता है और खेल सहित समस्त क्षेत्रों में इस प्रतिरोध को देखा जा सकता है।

ईरानी खिलाड़ियों ने इस्राईली खिलाड़ियों के साथ खेलने से जो इंकार कर दिया था उसे इसी परिप्रेक्ष्य में देखा जा सकता है।

वरिष्ठ नेता ने ईरानी खिलाड़ियों के इस साहसिक कार्य की सराहना करते हुए कहा कि इस्लामी गणतंत्र ईरान ने क्रांति के आरंभ से दक्षिण अफ्रीका की रंगभेदी और इस्राईल की नस्ल भेदी सरकार को मान्यता नहीं दी थी।

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here