Home अरब देश सऊदी अरब में एक साल में दर्ज हुए हिंसा के 11 हज़ार...

सऊदी अरब में एक साल में दर्ज हुए हिंसा के 11 हज़ार से ज्यादा केस

जेद्दाह: सऊदी अरब के सामाजिक विकास और श्रम मंत्रालय का कहना है कि साल 2016 के दौरान हिंसा की 11,142 शिकायतें मिलीं. सामाजिक सुरक्षा निदेशक हिशाम-अल-म्देमेघ का कहना है कि मंत्रालय के कॉल सेण्टर को मिली तमाम शिकायतों पर खतरे के स्तर को देखते हुए उचित कदम उठाया गया है.

उन्होंने जोर देकर कहा कि कॉल सेण्टर शिकायतकर्ता की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए क़ानून के मुताबिक फ़ोन करने वाले की पहचान गुप्त रखता है. अल-म्देमेघ ने शिकायत करने वाले और हिंसा के किसी मामले की जानकारी रखने वाले ऐसे तमाम लोगों को कॉल सेण्टर बुलवाया.

उन्होंने बताया कि आने वाली शिकायतों का वर्गीकरण खतरे के आधार पर किया जाता है. ज्यादा जोखिम वाले मामले पर 2 घंटों के अन्दर कारवाई शुरू हो जाती है, वहीँ औसत जोखिम वाले मामलों में 4 घंटों तक का वक़्त दिया जाता है, कम से कम खतरे वाले मामलों में ये अवधि 6 घंटों तक की होती है.

इस कॉल सेण्टर में घरेलू हिंसा की शिकायतें आती हैं. घरों में की जाने वाली शारीरिक, मानसिक हिंसा के अलावा यौन शोषण की शिकायतें भी इस में शामिल हैं. इस कॉल सेण्टर में बच्चों के शोषण और उनके साथ होने वाले दुर्व्यवहार की शिकायतें भी आती हैं. बच्चों को बेसहारा छोड़ देना, उनका जन्म पंजीकरण न कराना, छोटे बच्चों का टीकाकरण न कराना, उन्हें शिक्षा के अधिकार से वंचित रखना, उनकी सेहत पर गलत असर डालने वाले वातावरण में रखना और उनका शारीरिक, मानसिक या यौन शोषण करना आदि की शिकायतों पर भी उचित कदम उठाया गया है.

बच्चों को जुर्म करने के लिए उकसाने, उन्हें गैरकानूनी कामों में इस्तेमाल करने, सामाजिक, आर्थिक, जातीय भेदभाव करने और कम उम्र में वाहन चलाने की अनुमति देने से सम्बंधित शिकायतें भी इस कॉल सेण्टर में आई और निपटाई गयी हैं.

विभिन्न साथी संगठनों, सोशल मीडिया की साइटों के साथ मिलकर ये मंत्रालय समाज को घरेलू हिंसा और बच्चों के उत्पीड़न के नकारात्मक प्रभावों को समझाने के लिए जागरूकता अभियान चला रहा है. मंत्रालय की दी जानकारी के अनुसार नागरिक किसी भी समय 1919 पर कॉल करके अपनी शिकायत बता सकते हैं या फिर 1919@mlsd.gov.sa पर ईमेल भी कर सकते हैं, इसके अलावा सामाजिक सुरक्षा केन्द्रों पर भी जा कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.