Home अरब देश सऊदी अरब में पुलिस हिरासत में 2 पाकिस्तानियों की नृशंस हत्या

सऊदी अरब में पुलिस हिरासत में 2 पाकिस्तानियों की नृशंस हत्या

सऊदी अरब: सऊदी अरब में 2 पाकिस्तानी समलैंगिकों की पुलिस हिरासत में हुई दर्दनाक मौत. मानवाधिकार कार्यकर्ताओं के अनुसार, सऊदी अरब में 2 पाकिस्तानी समलैंगिक व्यक्तियों को पुलिस हिरासत में बोरियों में बंद कर मौत हो जाने तक लाठियों से पीटा गया.

कथित रूप से पुलिस ने एक घर में छापेमारी के दौरान 35 समलैंगिक लोगों को गिरफ्तार किया था जिस में 35 वर्षीय अम्ना और 26 वर्षीय मीनो के साथ ये घटना हुई. पाकिस्तानी कार्यकर्ताओं का कहना है कि सऊदी अरब में इस तरह और भी मौतें हुई हैं और अभी भी 22 लोग पुलिस हिरासत में हैं. कार्यकर्ताओं ने इस मामले में जांच की मांग की है.

ब्लू वेंस ग्रुप के सामाजिक मानवाधिकार कार्यकर्ता और नारीवादी कमर नसीम ने कहा,” ये बहुत ही भ्रामक और नाज़ुक स्थिति है, सऊदी अरब में समलैंगिक समुदाय के बहुत से लोग इस समय डरे हुए हैं, हम इस बाबत पूरी जानकारी चाहते हैं. इस समुदाय को सऊदी अरब के आपराधिक क़ानून से भी कोई लाभ नहीं मिल रहा है. वहां सिर्फ पकिस्तान ही नहीं, दुनिया के कई देशों से लोग मौजूद हैं.”

कमर नसीम का ये भी कहना है कि इस छापेमारी की जानकारी उन्हें एक समलैंगिक व्यक्ति द्वारा मिल गयी थी. कथित तौर पर समलैंगिक सम्बन्ध और अनुचित वेश-भूषा को आधार बना कर ये छापेमारी की गयी थी. ज्ञात हो कि सऊदी अरब में किसी भी प्रकार की लिंग परिवर्तन सर्जरी अवैध है और समलैंगिकता के लिए मौत की सजा का प्रावधान है.

कमर नसीम का कहना है कि पकिस्तान के समलैंगिक समुदाय की ‘गुरु-चेला चलन प्रथा’ के तहत वे लोग वहां एक सभा कर अपना ‘गुरु’ चुनने की प्रक्रिया कर रहे थे. हिरासत में लिए गए 11 लोगों से 150,000 रियाल का जुर्माना वसूला गया जबकि 22 लोग अभी भी हिरासत में बताये जा रहे हैं. उनका कहना है कि पकिस्तान के खैबर-पख्तूनख्वाह निवासी 2 लोगों को बोर में बाँध कर लातों और लाठियों से पीटा गया.

वहीँ पाकिस्तान की ट्रेवल एजेंट एसोसिएशन का कहना है कि पिछेल साल समलैंगिक लोगों को हज या उमराह के लिए भी सऊदी अरब द्वारा वीज़ा नहीं दिया गया था.