Home अरब देश सऊदी अरब – प्रवासियों को बिना किसी परेशानी के काम करने देना...

सऊदी अरब – प्रवासियों को बिना किसी परेशानी के काम करने देना चाहिए…क्या उनको सऊदी से बाहर निकालना सही विकल्प हैं?

सऊदी अरब जहां दुनिया भर से विदेशी नागरिक रोज़गार की तलाश में आते हैं. उल्लेखनीय हैं कि सऊदी अरब में 33 फ़ीसदी आबादी प्रविसियो की हैं. लेकिन वक़्त बा वक़्त सऊदी अरब में प्रवासियों के लिए नए नए कानूनों को सामने लाया जाता हैं. इन कानून में कुछ ऐसे नियम भी होते हैं जिनके कारण प्रवासियों कठिनाईयो का सामना करना पड़ता हैं. सऊदी अरब के अल-मदीना अख़बार के अहमद अस्साद खलील ने इस पर लेख लिखा हैं जिसका हिंदी अनुवाद हम यहाँ प्रकाशित कर रहे हैं.

उन्होंने अपने इस लेख में कई एहम सवाल उठाये, जो कुछ इस तरह हैं. ये प्रवासी कौन हैं? वो सऊदी अरब क्यों आते हैं? क्या वास्तव में सऊदी अरब में इनकी ज़रुरत हैं? क्या इसका कोई विकल्प हैं? परेशानी कहा हैं और इसका समाधान क्या हैं?

इसके अतरिक्त कई अन्य सवाल भी हैं. लेकिन सबसे पहले इन सवालो के जवाब ज़रूरी हैं. सऊदी अरब में अधिकतर प्रवासी आधिकारिक माध्यम से काम करने ए हैं, और ये प्रवासी वो काम करते हैं जो हमारे सऊदी नागरिक करने के लिए तैयार नहीं हैं.

उदाहरण के तौर पर हमको चिकित्सा डॉक्टरों, अध्यापक, टेक्नीशियन, निर्माण मजदूर, क्लीनर, मशीन ऑपरेटर, रखरखाव कार्यकर्ताओं, नाइयों, वेल्डर, बढ़ई और बिजली का काम करने के लिए प्रवासियों की ज़रुरत होती हैं जहां सऊदी नागरिक काम करने के इछुक नहीं होते हैं.

अगर हम ये निश्चित करले कि इन प्रवासियों को देश से बाहर निकालना हैं , तो सबसे बड़ा मुद्दा ये हैं कि क्या हमारे पास कोई विकल्प हैं इसका, और क्या हमारे पास इतने लोग हैं जो इन खली जगहों को भर सके.

आखिर में बस यही कहूंगा कि मेरी ये दरख्वास्त हैं कि प्रवासियों को बिना किसी परेशानी के काम करने देना चाहिए.