Home अरब देश इज़रायली दबाव के बावजूद इस देश ने बंद की जेरूसलम में अपनी...

इज़रायली दबाव के बावजूद इस देश ने बंद की जेरूसलम में अपनी एम्बेसी, अरब लीग ने कहा यह फैसला फिलिस्तीन के समर्थन में है

अरब लीग ने आज पराग्वे के जेरूसलम में अपनी एम्बेसी बंद करने के फैसले का समर्थन करते हुए स्वागत किया है. आपको बता दें की पराग्वे ने कुछ महीनों पहले इजराइल के कहने पर अपन जेरूसलम में शिफ्ट की थी लेकिन हाल ही में पराग्वे ने बड़ा फैसला लेते हुए जेरूसलम में अपनी एम्बेसी बंद कर दी. पराग्वे ने कहा की वह जेरूसलम से अपनी एम्बेसी तेल अवीव में शिर्फ़ करना चाहता है लेकिन इजराइली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने इनकार कर दिया.

मिडिल ईस्ट मॉनिटर के मुताबिक, फिलिस्तीनी मामलों के सहायक अरब लीग के महासचिव सईद अबू अली ने कहा कि “पराग्वे सरकार का निर्णय फिलिस्तीनी अधिकारों का समर्थन करने के लिए सही दिशा में आता है और अंतरराष्ट्रीय इच्छा के अनुरूप है.”

यह “संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रासंगिक प्रस्तावों” के अनुसार भी है. वर्ल्ड न्यूज़ अरबिया को मिली जानकारी के मुताबिक, पराग्वे ने मूल रूप से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की मई में इजरायल की राजधानी शहर के रूप में यरूशलेम की घोषणा और उसके बाद अमेरिकी दूतावास को स्थानांतरित करने की योजना बनाई. इसके बाद ग्वाटेमाला जैसे अमेरिकी क्षेत्र के प्रभाव के भीतर अन्य देशों के साथ एक ही कदम उठाने की योजना बनाई गई.

 

अगस्त में पराग्वे के नए राष्ट्रपति मारियो अब्दो बेनिटेज़ के चुनाव और शपथ ग्रहण के साथ, देश ने कल अपने फैसले को उलट दिया. दूतावास की चाल को रद्द करना यह साबित कर रहा है कि अमेरिका द्वारा लिया गया निर्णय अब और अधिक विभाजक है और अमेरिका की तरफ अंतर्राष्ट्रीय समर्थन कमजोर लगता है.

इज़राइल ने पराग्वे में अपना दूतावास बंद करके प्रतिशोध किया है, जबकि फिलिस्तीनी अथॉरिटी के विदेश मंत्री रियाद अल-माल्कि ने कहा है कि वे पराग्वे में “दूतावास” खोलेंगे.