जेद्दाह- वजन बढ़ने से इंसान के शरीर में कई सारी बीमारियाँ प्रवेश कर लेती हैं, कई लोग वजन बढ़ने के साथ-साथ बिस्तर से उठ तक नहीं पाते हैं, वजन बढ़ने का मुख्य कारण कई बाजारू खाद्य पदार्थ हैं, जो दिखने में अच्छे होते हैं, लेकिन कई सारे बिमारियों के निमंत्रण के साथ इन्सान को अपनी और आकर्षित कर देते हैं, जिनमे फ़ास्ट फ़ूड सर्वप्रथम बिमारियों को पैदा करने वाला प्रोडक्ट है.

सऊदी अरब के लोग भी इन फ़ास्ट फ़ूड के सेवन से वजन बढ़ने की वजह से परेशान हो चुके हैं, जिस वजह से उन्होंने बढ़ते वजन से छुटकारा पाने के लिए उन्होंने नयी तरकीब सोची है, जो कई सौदियों के लिए मुश्किल है लेकिन नामुमकिन नहीं.

क्या किया सऊदियों ने ?

सऊदी अरब में मोटापे का खतरा अधिक है, जो कि देश में मृत्यु के अहम कारणों में से एक है, सऊदी अरब में इन दिनों बहुत से लोग मोटापा से बचने के लिए शाकाहारी हो रहे हैं और मांस और अन्य प्रकार के फ़ास्ट फ़ूड को अपने से दूर ही कर रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय से स्वास्थ्य संबंधी जागरुकता के बाद सऊदी अरब के लोग उचित आहार में रहना चाहता है और एक स्वस्थ तरीके से जीवन जीने का प्रयास कर रहे हैं.

लीना बबसली, जो की स्टार्ट अप की सीईओ हैं, ने लोगों के लिए केमिकल पदार्थो और आर्टिफीसियल पदार्थों से मुफ्त एक प्रोजेक्ट शुरू किया.

उन्होंने कहा की की “मैंने ऑनेस्ट परियोजना शुरू की,  एक उपभोगता के रूप में , मै वह प्रोडक्ट नहीं ढून्ढ पायी, जो की संसाधित नहीं थे, लेकिन टेस्टी थे, लेकिन उन पर कुछ आर्टिफीसियल भी नहीं था, मै एक ब्रांड खोलना चाहती थी ताकि लोग विश्वास कर सके की हम उन्हें कभी भी बुरे भोजन से रूबरू नहीं करवाएंगे, बल्कि उन्हें बुरे भोजन से दूर ही रखेंगे.”

उन्होंने कहा की ” उनका मानना ​​है कि अब सऊदी अरब में लोग भोजन पर ध्यान देना शुरू कर रहे हैं, सऊदी अरब के लोग अब अपने स्वास्थ्य पर भी ध्यान देना शुरू कर रहे हैं, लेकिन इस वजह से उनके पास कुछ झूठी जानकारियां भी हैं, कई जगह पर वह ऐसे प्रोडक्ट देखते हैं, जिन पर लिखा होता है की ‘स्वस्थ’ लेबल पर यहाँ पर सब कुछ है, इसलिए कई लोग यह सुनिश्चित नहीं कर पा रहे हैं की कौन सा स्नैक वह लें?”

सौजन्य से- अरब न्यूज

क्या कहना है डॉक्टर्स का ?

सऊदी अरब के एक पोषण विशेषज्ञ डा विवियन वेहबे का कहना है की “सऊदी अरब में बहुत से लोग शाकाहारी हो रहे हैं क्योंकि अधिकांश मांस मोटापे को निमंत्रण देती हैं. उन्होंने कहा की “हम अनुशंसा करते हैं कि उच्च कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप वाले व्यक्ति, जो मोटापा और यहां तक ​​कि कैंसर के रोगों से संघर्ष कर रहे हैं को बहुत सारी सब्जियां खानी चाहिए.

जेद्दा के निवासियों की पतला होने की पहल

जेद्दाह में रह रहे  एक निवासी ने कहा की “वह तब से शाकाहारी बन गए, जब से उन्होंने किया कि वह जंक फूड और अस्वास्थ्यकर विकल्पों के आहार पर जीवित हैं और बीमार हो रहे हैं.”

उन्होंने कहा की “10-दिन के डाइट के बाद उन्होंने बहुत से रस, सूप और सलाद लेना शुरू किया, जिसके बाद उन्होंने काफी हल्का महसूस किया और कहा की अब मै शाकाहारी हूँ और मै अपनी जिन्दगी का आनंद ले रहा हूँ.”

जेद्दाह के अहमद अब्दुलसलम ने भी कहा की “मैं भी शाकाहारी बन गया हूँ, क्योंकि मेरे दिल ने मुझे मांस खाने के लिए गवाही नहीं दी, क्योंकि वह भी जीवित प्राणी हैं, मुझे लगा की मै जानवरों को खाकर बहुत ही ज्यादा गलत कर रहा हूँ, मैंने फिर खुद से वादा किया की मै कभी भी किसी भी जानवर को हानि नहीं पहुचाऊंगा.”

शाकाहारी सऊदी बनाने के लिए सरकार की पहल

प्रिंस-अल-वालीद बिन तलाल के बेटे प्रिंस खालिद, स्वस्थ जीवन शैली के लिए लोगों को शाकाहारी होने के लिए बढ़ावा दे रहे हैं, उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर घोषणा भी की थी की “2020 तक सऊदी अरब में कम से कम 10 शाकाहारी रेस्तरां खोले जायेंगे.”

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here