Political cleansing continues in Saudi Arabia, 200 arrested and arrested

पिछले साल सऊदी किंग सलमान और क्राउन प्रिंस ने एक भ्रष्टाचार समिति का गठन किया गया था, जिसमे देश के बड़े से बड़े राजकुमारों, अधिकारीयों और मंत्रियों सहित कई मजदुर संघ के लोगों को गिरफ्तार किया गया, इस भ्रष्टाचार सफाई अभियान में प्रिंस अलवालीद बिन तलाल जैसे बड़े अरबपतियों को भी हिरासत में लिया गया था हालाँकि अलवालीद और कई अन्य कैदियों को एक बड़े संपत्ति समझौते के बाद रिहा कर लिया गया है, लेकिन कुछ कैदियों को अभी भी हिरासत में रखा गया है, जिनमे कई बड़े-बड़े अधिकारी शामिल हैं.

सऊदी किंग सलमान के भ्रष्टाचार-सफाये के आदेश में कैद हुए कैदियों के साथ के हो रहे व्यवहार की हाल ही में एनवाईटी ने एक रिपोर्ट तैयार की है, जिसमे बताया गया है की किस तरह का व्यवहार जेल में कैदियों के साथ किया जा रहा है?

क्या कहा गया है रिपोर्ट में ?

द न्यू यॉर्क टाइम्स की रिपोर्टों के मुताबिक़ “मेजर जनरल अली अल कहतानी, जो की सऊदी नेशनल गार्ड के ऑफिसर थे, को अभी तक हिरासत में रखा गया था और उनकी मृत्यु हो गयी है, मृत्यु का कारण शरीर में सुजन और गर्दन के मुड़ने को बताया गया है.

रविवार को, अटॉर्नी जनरल शेख सऊद अल मोजेब ने भी एक सूचना मंत्रालय के बयान में कहा था की “किंग सलमान ने भ्रष्टाचार सफाये के मामलों की तह तक जांच करने के लिए देश में नए कार्यालयों को खोलने आदेश दिए थे.”

NYT रिपोर्ट में कहा गया है की कहतानी के अलावा, एक दर्जन से अधिक कैदियों के साथ जेल में दुर्व्यवहार किया गया और 381 राजकुमारों, मंत्रियों और व्यवसायियों की कई संपत्ति अभी तक जब्त भी नहीं की गई है.

मिडिल ईस्ट ऑय के मुताबिक पहले भी कहा गया था की “हिरासत में लिए गए कैदियों में प्रिंस मितैब बिन अब्दुल्लाह और पांच अन्य राजकुमारों के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया था और तब बाद में उनसे सम्पति जब्त कर रिहा कर दिया गया था.”

एनवाईटी रिपोर्ट के अनुसार “सोमवार को कम से कम 17 लोगों को शारीरिक शोषण के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

वाशिंगटन में सऊदी दूतावास के एक अधिकारी,को जब कहतानी के बारे में पोच्चा गया तो उसने बताया की “भ्रष्टाचार विरोधी कार्यवाही के दौरान जांच किए गए सभी लोगों के साथ दुर्व्यवहार और यातना के सभी आरोप बिल्कुल असत्य हैं.

न्यू यॉर्क टाइम्स के मुताबिक “381 लोगों में से अधिकांश को रिहा कर दिया गया है, लेकिन कई लोग अब भी हिरासत में हैं और उनकी पत्नियां और बच्चों को भी कथित तौर पर यात्रा करने से रोका गया है.

सऊदी अरब के अटॉर्नी जनरल ने जनवरी में कहा था कि गिरफ्तार कैदियों से 106 अरब डॉलर से अधिक जब्त किया गया था, हालाँकि इस बारे में अभी तक स्पष्ट नहीं किया गया की कैदियों से क्या जब्त किया गया और कितनी संपत्ति जब्त की गयी?

सम्पति जब्त

कैदों के वित्तीय सलाहकारों और सहयोगियों ने बताया है कि हिरासत में लिए गए लोगों की कई संपत्ति अभी तक जब्त नहीं हुई है और इनमें से ज्यादातर घरेलू रियल एस्टेट और कंपनियों के शेयर हैं जो सालाना समाप्त करने के लिए ले सकते हैं.

एनवाई टाइम्स के मुताबिक, सरकार ने सौदी बिनलडन ग्रुप निर्माण कंपनी का प्रभार संभाला है जबकि अध्यक्ष बकर बिनलादेन को हिरासत में रखा गया है. देश ने कथित तौर पर शाही अदालत प्रोटोकॉल के पूर्व प्रमुख मोहम्मद अल-तोबैशी से “बड़ी रकम” और अचल संपत्ति भी ली है. कुछ अधिकारीयों ने इस भ्रष्टाचार अभियान को पतन कहा था लेकिन कुछ ने इस अभियान को महत्वपूर्ण कहा था.

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here