Home अरब देश यूरोप में आर्थिक संकट के कारण बच्चो और युवको पर भुखमरी की...

यूरोप में आर्थिक संकट के कारण बच्चो और युवको पर भुखमरी की मार

यूरोपियन संघ के यूरोस्टेट सांख्यिकी सेंटर की रिपोर्ट के मुताबिक यूरोप में 16 वर्ष से कम आयु के एक चौथाई से अधिक बच्चे भुखमरी और सामाजिक लापरवाही का शिकार हैं. सामाजिक भेदभाव के कारण बच्चो को अच्छी शिक्षा और बेहतर जीवन नहीं मिल पा रहा हैं.

रिपोर्ट के अनुसार 2014 में 27.4 यूरोपीय बच्चे सामाजिक भेदभाव का शिकार हुए हैं. इस रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक दशक से यूरोप में आर्थिक संकट में फंसा हुआ हैं जिसके फलस्वरूप यूरोपियन देशो में आर्थिक एवं सामाजिक भेदभाव की सीमा बढ़ती ही चली जा रही हैं.

यूरोप में इस आर्थिक संकट के बाद देश की सरकारों ने बड़े पैमाने पर ख़र्चों में कटौती की नीति अपनायी, जिससे सबसे अधिक जन सेवाओं की योजनाएं प्रभावित हुईं. लाखों नौकरियां ख़त्म हो गईं.

यूनान, पुर्तगाल और स्पेन में अन्य यूरोपीय देशों की तुलना में सबसे अधिक बच्चे और युवा बुरे हालात में ज़िंदगी गुज़ारने पर मजूबर हैं. इसके साथ ही हाल ही ब्रिटैन के यूरोपियन यूनियन के अलग होने से पिछले आठ सालो में पहली बार पोंड लड़खड़ाया हैं, जिसको देख निवेषक गहरी चिंता में हैं.