संयुक्त अरब अमीरात के भारतीय राजदूत नवदीप सिंह सूरी ने मंगलवार की रात कहा कि “यूएई स्पेस एजेंसी के सलाहकार बोर्ड में शामिल होने के लिए एक शीर्ष भारतीय वैज्ञानिक को बुलाया गया है.”

अबू धाबी में भारतीय दूतावास और दुबई में भारतीय वाणिज्य दूतावास द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित 16 वें प्रवासी भारतीय दिवस (एनआरआई दिवस) को मनाने के समारोह को संभोधित करते हुए सूरी ने कहा कि, “हाल ही में उन्होंने डॉ मोहम्मद अल अहमबी के साथ एक बैठक की थी, जो संयुक्त अरब अमीरात अंतरिक्ष एजेंसी स्पेस सेक्टर में सहयोग पर थी.”

उन्होंने कहा की “मुझे उम्मीद है कि अगले दो हफ्तों में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के पूर्व अध्यक्ष यूएई अंतरिक्ष एजेंसी के सलाहकार बोर्ड में शामिल हो  जायेंगे.”

दुबई में भारत के काउंसिल जनरल विपुल ने इस बात की पुष्टि की है कि शीर्ष अंतरिक्ष वैज्ञानिक के.राधाकृष्णन इस मिशन में शामिल होंगे, जो की 2014 में भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी के अध्यक्ष के रूप में सेवानिवृत्त हुए और दुनिया के शीर्ष 10 वैज्ञानिकों में से एक हैं. के.राधाकृष्णन ने आईएसओ और अन्य वैज्ञानिक एजेंसियों में कई महत्वपूर्ण पदों का आयोजन किया है, वह भारत के चंद्रयान -1 चाँद मिशन की सफलता में प्रमुख लोगों में से एक थे.

राजदूत ने कहा कि अंतरिक्ष क्षेत्र में दोनों देशों के बीच अधिक आकर्षक सहयोग हैं, रक्षा क्षेत्र में बढ़ते सहयोग के बारे में उन्होंने कहा कि “भारत ने रक्षा सामग्री की आपूर्ति से संबंधित संयुक्त अरब अमीरात के साथ एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किए हैं”.

उन्होंने कहा की “मैं केवल यह कह सकता हूं कि बचाव सामग्री की आपूर्ति के लिए कॉन्ट्रैक्ट पर हस्ताक्षर किए गए हैं, जो फिर से हमारी रणनीतिक साझेदारी की परिभाषा के प्रति वज़न देता है”. राजदूत ने संयुक्त अरब अमीरात और भारत के बीच गहन राजनैतिक संबंधों पर भी प्रकाश डाला जिसमें सूरी ने विभिन्न क्षेत्रों में देशों की साझेदारी को बताया.

उन्होंने कहा की “हमारी सामरिक साझेदारी ने लेनदेन से जुड़े संबंधों को और अधिक मूल संबंधों में बदल दिया है, हम 2018 में इसके बारे में और घोषणाओं की उम्मीद कर सकते हैं.

मंगलवार को, अबू धाबी के क्राउन प्रिंस और संयुक्त अरब अमीरात सशस्त्र बलों के सुप्रीम कमांडर शेख मोहम्मद बिन ज़ैद अल नहयान को भारतीय प्रधानमंत्री मोदी से एक टेलीफोन कॉल भी प्राप्त हुआ, दोनों नेताओं ने संयुक्त अरब अमीरात और भारत के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों और सहयोग को बढ़ाने के तरीके पर चर्चा की, ताकि दोनों देशों और उनके लोगों के सामरिक हितों की अच्छी सेवा हो सके.

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here