Home अरब देश किंग सलमान और पाकिस्तानी पीएम अब्बासी ने की बातचीत

किंग सलमान और पाकिस्तानी पीएम अब्बासी ने की बातचीत

रियाद – दो पवित्र मस्जिदों के कस्टडीयन किंग सलमान सोमवार को पाकिस्तान के प्रधान मंत्री शाहिद अब्बासी से मिले थे. क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान, डिप्टी प्रीमियर और रक्षा मंत्री, ने भी अब्बासी के साथ मुलाकात की, जो एक दिन की यात्रा के लिए राज्य के दौरे पर गए थे.

अब्बासी के साथ बातचीत में पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ; सेना के कमांडर जनरल, जनरल कमर जावेद बजवा और इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल नावेद मुख़्तार शामिल थे.

पाकिस्तान मिशन से मिली एक प्रेस रिलीज़ के अनुसार, रियाद के गवर्नर प्रिंस फैसल बिन बनदर अल सऊद ने किंग सलमान एयरबेस में प्रधान मंत्री का स्वागत किया. किंग सलमान ने पाकिस्तान के प्रधान मंत्री और उसके प्रतिनिधि मंडल के सम्मान में लंच का आयोजन भी किया गया.

किंग सलमान के साथ उनकी मुलाकात के दौरान, दो गणमान्य ने क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों के अलावा अपने द्विपक्षीय संबंधों के पूरे स्पेक्ट्रम पर चर्चा की गयी. उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में अपने द्विपक्षीय संबंधों को आगे बढ़ाने और बेहतर बनाने पर चर्चा की.

सऊदी गेज्जेट के अनुसार, अब्बासी ने इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता लाने के लिए सऊदी नेतृत्व के प्रयासों की सराहना की और इस संबंध में कश्मीर सलमान को पाकिस्तान के पूर्ण समर्थन का आश्वासन भी दिया. किंग  सलमान ने दोनों देशों के बीच मौजूद अच्छे संबंधों की सराहना की और पाकिस्तान की मिट्टी से आतंकवाद और उग्रवाद के खतरे को खत्म करने के प्रयासों के लिए भी उनकी तारीफ की.

क्राउन प्रिंस के साथ हुई बैठक के दौरान, अब्बासी ने नेशनल इकनोमिक ट्रांसफॉर्मेशन प्लान ‘विजन 2030’ शुरू करने के लिए अपने विचारों की सराहना की और इसे प्राप्त करने में पाकिस्तान की तकनीकी और मानव संसाधन सहायता की पेशकश की. उन्होंने इस्लामिक मिलिट्री अलायन्स ऑफ़ कॉम्बैट टेररिज्म (आईएमसीटीसी) के मुताबिक मुस्लिम देशों को एक करने वाला प्लेटफॉर्म शुरू करने में क्राउन प्रिंस के प्रयासों और समर्पण की सराहना की.

आतंकवाद और आईएमसीटीसी में तेज़ भागीदारी से पाकिस्तान के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए, किंग सलमान ने कहा कि सऊदी अरब और गठबंधन के अन्य देशों ने पाकिस्तान के इस अनुभव से सीखने की उम्मीद की है.

Previous articleबड़ी खबर- $1 बिलियन देकर रिहा हुए यह सऊदी प्रिंस
Next articleसऊदी अरब में तेज़ी से बढ़ रही है बेरोज़गारी, मिला 5वां स्थान