Home अरब देश यरूशलेम को राजधानी बनाने पर भड़का सऊदी अरब, दिया यह बड़ा ब्यान

यरूशलेम को राजधानी बनाने पर भड़का सऊदी अरब, दिया यह बड़ा ब्यान

source: Arab News

जेद्दाह: सऊदी अरब ने गुरुवार को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की घोषणा पर “बहुत निराशा” जताई है और कहा कि, जो यरूशलेम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देते हुए और अमेरिकी दूतावास को यरूशलेम में  बसने के लिए है.

सऊदी प्रेस एजेंसी (SPA) के एक बयान में, शाही अदालत ने कहा कि राज्य ने पहले ही ऐसे “गैर जिम्मेदार और बेबुनियाद कदम” के गंभीर परिणामों की चेतावनी दी थी. मंगलवार को, सऊदी के किंग सलमान ने ट्रम्प को इशारा करते हुए कहा था कि इजरायल से यरूशलेम के लिए अमेरिकी दूतावास को आगे बढ़ाना एक “खतरनाक कदम” हो सकता है, जो दुनिया भर के मुस्लिमों   भड़काने का काम कर सकता है.

अरब न्यूज़ के मुताबिक, “राज्य ने निंदा और अफसोस ज़ाहिर करते हुए कहा कि ट्रम्प सरकार ने यह कदम इसलिए उठाया है, क्योंकि यह यरूशलेम में फिलीस्तीनी लोगों के ऐतिहासिक और स्थायी अधिकारों के खिलाफ दबाव का प्रतिनिधित्व कर रहा  है, जिसे प्रासंगिक अंतरराष्ट्रीय प्रस्तावों ने पक्का कर दिया है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा मान्यता और समर्थन भी किया जा रहा है.”

उन्होंने कहा हालांकि ट्रम्प के कदम से यरूशलेम और अन्य कब्जे वाले क्षेत्रों में फिलीस्तीन लोगों के अतुलनीय और संरक्षित अधिकारों को कम नहीं किया जाएगा, लेकिन “शांति के माहौल को पीछे हटाने की कोशिश की जा रही है.”

कहा जा रहा है कि सऊदी अरब अमेरिकी प्रशासन पर कार्रवाई करने और अंतरराष्ट्रीय इच्छा का समर्थन करने के लिए कह रहा है ताकि फिलीस्तीनी लोगों को अपने मान्य अधिकार वापस मिल सकें.

इस मुद्दे को लेकर तुर्की के राष्ट्रपति तय्यब एर्दोबन ने OIC की तल्काल बैठक बुलाई है, जिसमे यरूशलेम को राजधानी की मान्यता देने पर अरब देश तथा मिडिल ईस्ट के देशों की रणनिति को लेकर विमर्श किया जाएगा.

Previous articleयेरुशलम राजधानी को लेकर एर्दोगोंन ने बुलाई OIC देशों की तत्काल बैठक
Next articleसभी मुसलमानों को इस समय एक हो जाना चाहिए – राष्ट्रपति एर्दोगोन