Home अरब देश बिन सलमान के ‘सुधारों’ के बावजूद सऊदी अरब में बढ़ती बेरोज़गारी रिकार्ड...

बिन सलमान के ‘सुधारों’ के बावजूद सऊदी अरब में बढ़ती बेरोज़गारी रिकार्ड स्तर पर

सऊदी क्राउन प्रिंस मोहमाद बिन सलमान दुनिया की ऐसी शख्सियत के तौर पर उभर कर आयें है जिहोने क्राउन प्रिंस बनने के एक साल में ही सऊदी का तख्तापलट कर दिया है. बिन सलमान इन दिनों इंटरनेशनल मीडिया की सुर्ख़ियों में है. उनसे जुडी कोई भी खबर एक दम वायरल हो जाती है. बिन सलमान सऊदी को नयी उच्चाईयों पर ले जाने के लिए विज़न 2030 को लांच किया जिसका उद्देश्य सऊदी से प्रवासी कर्मचारियों को निकालकर सऊदी नागरिकों को नौकरी देना है.

रिपोर्ट के मुताबिक, सऊदी जनरल सांख्यिकी कार्यालय ने अपनी पहली त्रैमासिक आर्थिक रिपोर्ट जारी की है, इस रिपोर्ट के अनुसार सऊदी नागरिकों के बीच औसत बेरोजगारी दर पिछले वर्ष की पहली तिमाही में 12.8% की तुलना में इस वर्ष की पहली तिमाही में 12.9% की रिकॉर्ड उच्च स्तर पर है.

सऊदी महिलाओं है सबसे ज्यादा बेरोज़गार

इस रिपोर्ट के अनुसार सऊदी अरब (सऊदी नागरिक और वहां रहने वाले विदेशियों के लिए) में संभावित औसत बेरोजगारी दर 6.1 प्रतिशत है जब की यही दर पिछले वर्ष की अंतिम तिमाही में 6% थी. सऊदी अरब में कार्यरत लोगों की संख्या 13.33 मिलियन है, जिनमें से 10.18 मिलियन विदेशी (76.5%) और 3.15 मिलियन सऊदी नागरिक (23.6%) हैं. सऊदी महिलाओं का बेरोज़गारी दर 75.6 % है.

सऊदी अरब में बेरोज़गारी दर ऐसे समय में बढ़ रही है कि जब सऊदी सरकार अपनी पूरी कोशिश कर रही है कि विभिन्न आर्थिक क्षेत्रों में पैदा होने वाले रोज़गार के लिए सऊदी नागरिकों को नौकरी पर रखे और जहां तक हो सके विदेशी कामगारों को संख्या में कटौती करे. इसी लिए सऊदी अरब के अर्थव्यवस्था मंत्रालय की यह कोशिश है कि 2020 तक सऊदी नागरिकों के बीच बेरोज़गारी दर को घटा कर 10.6 प्रतिशत तक पहुँचा दे, और 2030 तक इस दर को 7 प्रतिशत तक पहुँचा दे.