Home अरब देश बर्मा से निकाले गए 170,000 मुसलमानों को सऊदी अरब देगा इकामा

बर्मा से निकाले गए 170,000 मुसलमानों को सऊदी अरब देगा इकामा

जेद्दाह: सऊदी अरब ने धार्मिक उत्पीडन के कारण बर्मा से पलायन कर चुके चार लाख मुस्लिमों को इकामा (Iqama) (अपने देश में निवास करने का परमिट) देने का फैसला किया है. बर्मा के निवासियों की एक बड़ी संख्या 70 वर्षों से सऊदी अरब में निवास कर रही है. मक्का में बर्मा समुदाय के शेख अबू अल्शामा अब्दुलमजीद ने सऊदी सरकार के बर्मा मूल के मुस्लिम समुदाय के लोगों के पुनर्स्थापन में सहायता करने के कदम की सराहना की.

इकामा के ज़रिये बर्मा मूल के मुस्लिमों को स्वास्थ्य सुविधायें मिलेंगी, शैक्षणिक सुविधाओं तक उनकी पहुँच होगी और साथ ही रोजगार के बेहतर अवसर भी उन्हें प्राप्त होंगे. आज के वक़्त तक 170,000 बर्मी लोग इकामा के ज़रिये ये जीवन और सुविधाएं प्राप्त कर चुके हैं.

और पढ़ें: बहरीन में झूठे आरोप लगाकर 10 साल के बच्चे को अदालत में किया तलब

अब्दुलमजीद ने आगे कहा कि इस सरकार के उठाये गए इस कदम के कारण धर्मार्थ संगठनों द्वारा संचालित विद्यालयों में पढ़ रहे छात्र अब अपनी प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा पब्लिक स्कूलों में प्राप्त कर सकेंगे.

उन्होंने आगे कहा कि पासपोर्ट की कमी के कारण इन लोगों का बर्मा वापस लौटने का सपना बस सपना सा ही रह गया है. खासकर जब पाकिस्तानी और बांग्लादेशी दूतावासों ने उन्हें पासपोर्ट देने से इनकार कर दिया है. मुस्लिमों पर मुक़दमे चलाने और उन्हें यातनाएँ देने का डर इस सपने को और भी असंभव बना देता है.

web title – Saudi Arabia gifted Eqama as a gift to migrated Muslims from Burma

paragraph – Saudi Arabia has decided to give four million Muslims who migrated from Burma due to religious persecution of Ekma (Iqama) (permit to stay in their country).