Home अरब देश सऊदी अरब ने अरामको को दी बड़ी राहत, अब बढ़ेंगे नयी नौकरियों...

सऊदी अरब ने अरामको को दी बड़ी राहत, अब बढ़ेंगे नयी नौकरियों के नए मौके

सऊदी अरब ने राज्य ऊर्जा कंपनी सऊदी अरमको (Aramco) के लिए कर की दर को घटा दिया है क्योंकि कंपनी निजी निवेशकों की संख्या में और 2018 में योजनाबद्ध प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश के मुकाबले उच्चतम संभावित मूल्यांकन की तलाश में है. सोमवार को शाही डिक्री ने राज्य में हाइड्रोकार्बन के उत्पादकों के लिए आयकर दरों को रीसेट किया. तमाम बड़ी कंपनियों सहित सऊदी अरामको की दर 85% से 50% तक गिर गयी. कर परिवर्तन 1 जनवरी को पूर्वव्यापी है.

नई राजकोषीय व्यवस्था ने सीधे सऊदी अरमको का नाम नहीं लिया, लेकिन यह कंपनी की 5 प्रतिशत बिक्री के रास्ते को कम करने के लिए तैयार हुई, जो कि दुनिया का सबसे बड़ा तेल उत्पादक है. सऊदी अधिकारियों का मानना ​​है कि सऊदी अरामको का मूल्य 2 करोड़ डॉलर है लेकिन ऊर्जा विश्लेषकों ने चेतावनी दी है कि कंपनी की उच्च कर की दर, जो सरकार को 20 फीसदी रॉयल्टी भुगतान के ऊपर आती है, अंतर्राष्ट्रीय प्रतिद्वंदियों की तुलना में इसे निवेशकों के लिए कम आकर्षक बनाती है. सऊदी अरामको के मुख्या कार्यकारी अधिकारी अमीन नासिर ने कहा कि नयी टैक्स दर सऊदी अरामको को अंतर्राष्ट्रीय मानदंडों के अनुरूप लाएगी. कंपनी ने इस साल के शुरू में राज्य के सर्वोच्च अधिकारियों को 50 प्रतिशत की दर की सिफारिश की थी.

कंपनी के कर बोझ को कम करना ये दर्शाता है कि कंपनी अपनी वित्तीय स्थिति में सुधार कर अंतर्राष्ट्रीय तेल कंपनियों के समान आने की कोशिशों में लगी हुई है. 2016 की शुरुआत में सूची बनाने की घोषणा के साथ ही कंपनी अपने खातों के असंतुलन को दुरुस्त करने में लगी हुई है. साथ ही कंपनी सरकार के लिए किये जाने वाले अपने अन्य कामों के व्यापार से प्राप्त होने वाली आमदनी को भी इससे अलग करने में जुटी है.

और पढ़ें: तेल की गिरती कीमतों से बौखलाया सऊदी अरब, हुआ बड़ा नुकसान

कंपनी न केवल एक तेल और गैस उत्पादक है, बल्कि यह राज्य की एक प्रभावी शाखा के रूप में भी काम करती है, स्कूलों, अस्पतालों और खेल स्टेडियमों का निर्माण करती है. सऊदी अरामको के शीर्ष पदाधिकारी चाहते हैं कि कंपनी अपने खातों को चलाये क्योंकि वे आईपीओ के लिए कम से कम पिछले एक वर्ष से पहले से काम कर रहे हैं. सऊदी अरामको भी अपने वित्तीय नंबरों तक निवेशकों को अभूतपूर्व पहुंच देने की तैयारी कर रहा है, जो पहले गुप्त माने जाते थे.

कर की दर कम होने के बावजूद, सरकार अब भी रॉयल्टी भुगतान के ऊपर, सऊदी अरमको से धन प्राप्त करेगी, क्योंकि यह कंपनी का सबसे बड़ा शेयरधारक है और किसी भी लाभांश के अपने हिस्से के हकदार है. वित्त मंत्री मोहम्मद अल जदान ने कहा कि राज्य में संचालित हाइड्रोकार्बन उत्पादकों के लिए लागू कोई भी कर, राजस्व में कटौती सरकार की स्वामित्व वाली कंपनियों, और राजस्व के अन्य स्रोतों से मुनाफे सहित स्थिर लाभांश भुगतान द्वारा प्रतिस्थापित किया जाता है.

WEB TITLE – Saudi Arabia lowered the burden of oil company Aramco

PARAGRAPH – Saudi Arabia has reduced the tax rate for state energy company Saudi Aramco, because the company is looking for the highest possible valuation in the number of private investors and the planned initial public offering in 2018