Home अरब देश मिलिए सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के नए ‘एडवाइज़र’ से

मिलिए सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के नए ‘एडवाइज़र’ से

SOURCE: ARAB NEWS

दुबई – मोहम्मद बिन सलमान जबसे सऊदी के क्राउन प्रिंस बने है जबसे उन्होंने सऊदी का तख्तापलट कर दिया है. बिन सलमान सऊदी को बहुत आगे ले जाना चाहते है. ऐसे में बिन सलमान को एक ऐसे एडवाइजर की ज़रूरत है जो सऊदी को पूरी तरह से बदल सकें.

क्लाउड क्लेनफेल्ड, औद्योगिक समूह सीमेंस और विशाल एल्यूमीनियम निर्माता अल्को के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी को सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के सलाहकार नियुक्त किया गया है.

मंगलवार को एक अधिकारी सऊदी बयान में मंगलवार को कहा गया कि क्लेनफेल्ड सऊदी के उत्तर-पश्चिम में विकास के तहत 26,500 वर्ग किलोमीटर का व्यवसाय क्षेत्र एनईओएम (NEOM) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में अपनी वर्तमान स्थिति छोड़ देगा, लेकिन इसके बोर्ड पर एक स्थिति बनाए रखेंगे.

सऊदी की NEOM परियोजना क्या है?

सऊदी अरब न्यूयॉर्क से 33 गुनी बड़ी मेगासिटी तैयार कर रहा है. इस मेगासिटी को बनाने की कुल लागत है 350 बिलियन यूरो है. इस तरह यह तेल पर निर्भरता कम करने की कोशिश कर रहा है. क्राउन प्रिन्स मोहम्मद बिन सलमान ने शहर की घोषणा की और इस मेगासिटी का नाम निओम है. इसमें 100% नवीकरणीय ऊर्जा यानी रिनियुएबल एनर्जी का इस्तेमाल किया जाएगा.

आर्किटेक्चर के कहा, यह लाल सागर के तट पर बनाया जाएगा और डिजाइन दस्तावेज़ के मुताबिक,  इमारतों को बनाने के लिए आधुनिक और पारंपरिक मोरक्को-स्टाइल का इस्तेमाल किया जाएगा. आपको बता दें कि, इन आलिशान महलों के परिसर में हेलिपैड, मरीना और लक्जरी गोल्फ कोर्स भी शामिल होंगे.

द सन के मुताबिक, निओम का अपना न्यायिक सिस्टम होगा और सऊदी सरकार द्वारा इसे अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को आकर्षित करने के लिए तैयार किया जाएगा.

एक बयान में कहा गया है कि बिन सलमान के नए एडवाइजर सऊदी अरब के आर्थिक, तकनीकी और वित्तीय विकास को बढ़ाने के लिए व्यापक जिम्मेदारियों को उठाएंगे.

क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने पर्यटन से प्रौद्योगिकी के नए उद्योगों को विकसित करके तेल निर्यात पर निर्भरता से सऊदी अर्थव्यवस्था को कम करने के लिए तैयार किए गए सुधारों का एक व्यापक कार्यक्रम शुरू किया है.
क्लेनफेल्ड, जो 1 अगस्त को अपनी नई पोस्ट ले लेंगे, को पिछले अक्टूबर में घोषित होने पर एनईओएम परियोजना का नेतृत्व करने के लिए नियुक्त किया गया है.

सऊदी अरब ने कहा है कि एनईओएम में सार्वजनिक और निजी निवेश अंततः कुल 500 अरब डॉलर होने की उम्मीद है. निओम, सऊदी अरब के एक रेगिस्तान (डेज़र्ट) क्षेत्र में बनाया जाएगा. सऊदी की सबसे बड़ी निर्माण कंपनी सऊदी बिनलादेन ग्रुप कुछ महलों का निर्माण करेगी. निओम (NEOM) ज़ोन लाल सागर और अकाबा की खाड़ी के पास होगा. यह मिस्र और सऊदी अरब के बीच होगा.