Home अरब देश सऊदी अरब ने अपने नागरिकों के सिर से हटाया टैक्स का बोझ

सऊदी अरब ने अपने नागरिकों के सिर से हटाया टैक्स का बोझ

दोहा: सऊदी अरब के वित्त मंत्री ने अपने देश के नागरिकों को आयकर से मुक्त करने की घोषणा की है. उन्होंने ये भी घोषणा की है कि सऊदी कंपनियों को तेल-समृद्ध देश में आर्थिक सुधारों के व्यापक लाभ के तहत लगाया गया लाभ नहीं मिलेगा.

इस ऊर्जा संपन्न देश के निवासियों ने टैक्स मुक्त और भारी सब्सिडी वाले जीवन का बहुत आनंद लिया लेकिन 2014 से कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट आने पर सरकार ने कटौती की और नए राजस्व की तलाश शुरू की.

सऊदी वित्त मंत्री मोहम्मद अल जदान ने एक बयान में कहा है कि लोगों को एक महत्वाकांक्षी सुधार योजना के हिस्से के रूप में टैक्स देना होगा. 5% लेवी पिछले साल जून में 6 सदस्यीय गल्फ सलाहकार परिषद् के साथ एक समझौते के बाद कुछ वस्तुओं पर लागू होगी.

2018 के लिए यह वैल्यू-एडेड टैक्स प्लान कच्चे तेल की कीमतों को, जिससे क्षेत्रीय विकास कम हो गया है, को कम करने के लिए मदद करेगा. इसे ऐसे समायोजित किया जायेगा जिससे 2020 से पहले 5 प्रतिशत से अधिक बढ़ोत्तरी नहीं हो पायेगी.

रियाध के अंतर्राष्ट्रीय बैंकरों के साथ इस मुद्दे पर गहन चर्चा के बाद कर कटौती की घोषणा की गयी थी. बैंकरों और स्वतंत्र विशेषज्ञों ने कहा कि कटौती भविष्य के निवेशकों को लाभांश के लिए उपलब्ध नकदी प्रवाह को बढाने में मदद करेगा और ये भी सुझाव दिया है कि विभिन्न सऊदी हित समूह निजीकरण के साथ आगे बढ़ने के तरीकों पर एक सहमति पर पहुँच रहे थे.

देश अपने निवेश आधार को विस्तृत कर रहा है और आर्थिक विविधीकरण प्रयासों के तहत अन्य गैर-तेल आय के साधनों को बढ़ाने और 2020 तक अपने बजट को संतुलित करने का लक्ष्य लेकर चल रहा है.