जेद्दाह: किंग सलमान मानवतावादी सहायता केद्र हमेशा से ही ज़रुरतमंदों की मदद करता नज़र आया है लेकिन रमजान के दौरान सऊदी ने गरीब देशों में सहायता उअर भी ज्यादा बढ़ा दी है. सऊदी ने रमज़ानों के दौरान यमन, सीरिया, फिलिस्तीन, सूडान, रोहिंग्या मुसलमानों और नाइजीरिया जैसे देशों को इफ्तार और सहरी का सामान भिजवाया .

अरब न्यूज़ के मुताबिक, अब सऊदी सरकार ने सूडान जैसे गरीब देश के लिए 458 टन खाना, आश्रय और चिकित्सा सहायता की है. किंग सलमान रिलीफ से भरा जहाज़ सूडान पोर्ट पर पहुंचा.

सऊदी ने सूडान गणराज्य के लिए राहत केंद्र (केएसआरिलिफ़) के कर्मचारियों ने राहत सामन वितरित किया. सूडान के लोगों की मदद के लिए किंग सलमान बिन अब्दुलअज़ीज़ और क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के निर्देशों पर सहायता निम्नानुसार है.

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया को मिली जानकारी के मुताबिक, किंग सलमान के नेतृत्व में डॉ अब्दुल्लाह अल-रबीया ने सूडान के लाल सागर क्षेत्र के साथ-साथ उत्तरी कॉर्डोफ़ान प्रांत के दो प्रांतों में खाद्य टोकरी वितरित करने के लिए जिम्मेदारी ली.

साथ ही किंग सलमान रिलीफ 40 से अधिक स्वास्थ्य केंद्रों को चिकित्सा आपूर्ति भी प्रदान करेगा उम्मीद है कि सऊदी सहायता शिपमेंट से 50,000 से अधिक सूडानी नागरिकों को फायदा होगा.

इसी के साथ किंग सलमान मानवतावादी सहायता और राहत केंद्र (केएसआरिलिफ़) अभी भी चक्रवात से प्रभावित यमनी द्वीप, सोकोत में राहत गतिविधियों को पूरा कर रहा है. साथ ही सऊदी ने कहा है कि, वह यमन में मानवीय सहायता तब तक जारी रखेगा जब तक हालात बेहतर नहीं हो जाते.

अरब न्यूज़ के मुताबिक, सऊदी राहत संगठन चक्रवात से प्रभावित 950 लोगों के पुनर्वास हर वक़्त काम कर रहा है. यह प्रयास किंग सलमान और क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के निर्देशों पर यमन लोगों को राज्य द्वारा प्रदान किए जाने वाले निरंतर समर्थन के ढांचे के भीतर आते हैं.

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here