Home अरब देश पांच महीने की रोक के बाद सऊदी अरब की इस कंपनी ने...

पांच महीने की रोक के बाद सऊदी अरब की इस कंपनी ने फिर से निर्यात किया इस देश को तेल

इनटरनेट समाचार पत्र राय अलयौम ने लिखा कि मिस्र के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि रियाज़ और क़ाहेरा के संबंध सामरिक हैं और यह संबंध अस्थिर नहीं हुए हैं।

मिस्र विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने इस देश के सरकारी रेडियो से बातचीत करते हुए सऊदी अरब पाँच महीने तक तेल निर्यात बंद रहने के बाद दोबारा मिस्र को तेल भेजे जाने के बारे में कहाः सऊदी पक्ष का कहना है कि इस रुकावट का कारण वाणिज्यिक अनुबंध था और अब यह रुकावट समाप्त हो गई है और हालात दोबारा सामान्य हो जाएंगे।

मिस्र के पेट्रोलियम मंत्री तारिक़ अलमला ने कहा कि सऊदी अरब की आरामको कंपनी ने मिस्र को तेल का निर्यात दोबारा शुरू कर दिया है।

मिस्र ने सुरक्षा परिषद में हलब के बारे में रूसी प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिया था जब की सऊदी अरब और फ़ारस की खाड़ी के देश इस प्रस्ताव के घोर विरोधी थे, मिस्र द्वारा रूसी प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिए जाने के बाद काहेरे और रियाज़ के संबंधों में दरार आ गई थी जिसके बाद सऊदी अरब ने मिस्र को तेल देना बंद कर दिया था।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अबू ज़ैद ने ईरान और फ़ारस की खाड़ी देशों के संबंध की तरफ़ इशारा करते हुए कहाः हम ईरान जैसे देश के महत्व और क्षेत्र में उसके प्रभाव को समझते हैं, लेकिन ईरान क्षेत्र के कुछ देशों में नकारात्मक हस्तेक्षेप करता है।

उन्होंने कहा मिस्र क्षेत्र के हालात और क्षेत्र में ईरान के प्रभाव के आधार पर तेहरान के साथ अपने संबंधों की समीक्षा करता है और दोनों देशों के बीच क्षेत्रीय मामलों पर बातचीत जारी है।