Home अरब देश सऊदी अरब के बारे में ईराकी प्रधानमंत्री के बिगड़े बोल

सऊदी अरब के बारे में ईराकी प्रधानमंत्री के बिगड़े बोल

ईराक (Iraq) के प्रधानमंत्री ने कहा है कि बग़दाद और रियाध के बीच मतभेद काफी पुराने हैं. उन्होंने कहा कि ईराक में हुए हमलों के लिए ईराकी लोग सऊदी अरब को ही ज़िम्मेदार मानते हैं. हैदर अल-इबादी ने ने कहा कि ईराक में हमले करने वाले अधिकाँश सऊदी नागरिक ही थे. आतंकवादी संगठन आइएसआइएस ने 2014 से ईराक के उत्तरी व पश्चिमी क्षेत्रों में बहुत कहर बरपाया है. आइएसआइएस को इस काम में अमेरिका, पश्चिमी और सऊदी अरब समेत अरब देशों का वित्तीय व सैनिक सहयोग मिलता रहा है.

उन्होंने आगे कहा कि वहाबी विचारधारा के प्रचार-प्रसार में सऊदी अरब की जो भूमिका है वो किसी से छिपी नहीं है. उनकी विचारधारा के परिणामस्वरूप ही आइएसआइएस जैसे आतंकवादी संगठन अस्तित्व में आये हैं. ये एक ऐसा विषय है जिसके बारे में क्षेत्र और विश्व के तमाम लोग जानते हैं. विश्व का एक हिस्सा सऊदी अरब को आतंकवादी देश के रूप में जानता है.

2003 में ईराक में सरकार के तख्तापलट के बाद रियाध और बगदाद के संबंधों में नयी ताजगी आई. उम्मीद की गयी कि सऊदी अरब और ईराक के कूटनीतिक संबंधों में कोई नयी शुरुआत होगी पर ईराक के आतंरिक मामलों में दखलंदाजी के कारण बगदाद में सऊदी अरब के दूतावास के क्रिया कलाप और सऊदी अरब का आतंकवादियों को गुप्त व खुला समर्थन मिलने से दोनों देशों के कूटनीतिक संबंधों को आगे बढाने का मौका वहीँ ख़त्म हो गया.

दोनों देशों के सम्बन्ध तनावपूर्ण हो जाने इराक के विरुद्ध सऊदी अरब की शत्रुतापूर्ण नीतियों के जारी रहने की स्थिति में रियाज़ ने बगदाद के साथ अपने कूटनियक संबंधों को कम करके प्रभारी स्तर पर सीमित कर दिया.

बहरहाल, इस क्षेत्र में होने वाले बदलाव इस बात की ओर इंगित करते हैं, कि आतंकवादी और तकफीरी गुटों का समर्थन करने और क्षेत्रीय देशों के आंतरिक मामलों में दखलंदाजी के कारण सऊदी अरब की सरकार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर एक घृणित सरकार में बदल गयी है, और उसके प्रति अरब देशों में भी घृणा व्याप्त हो गयी है.

web title – statement of prime minister of iraq about saudi arabia

paragraph – The Prime Minister of Iraq has said that the differences between Baghdad and Riyadh are quite old. He said that Iraqi people consider Saudi Arabia responsible for the attacks in Iraq.