Home अरब देश इस सऊदी बच्ची ने यूट्यूब से पैसे कमाकर कराया खुद के कैंसर...

इस सऊदी बच्ची ने यूट्यूब से पैसे कमाकर कराया खुद के कैंसर का ईलाज

source: Al Arabiya

World News Arabia, 05-01-2018, Time: 05:09 PM

हनिन अल-खरजी, इनकी उम्र महज़ 12 साल की है और यह सऊदी में रहती है. जो “वेसक्यूलिटिस”(vasculitis) बिमारी से जूंझ रही है. यह एक ऐसी  बीमारी है जो तेज़ी से ब्लड वेसल्स में फैलती है. हनिन ने  चैनल  “Hanin’s World” बनाया. इस यूट्यूब चैनल के ज़रिये उन्होंने लोगों को अपनी बिमारी के बारे में बताया तथा लोगो ने हनीन के बारे में देखा तो उन्हें बहुत अफ़सोस हुआ और काफी लोगो ने उनकी मदद का आश्वासन भी दिया और आखिरकार उन्होंने बीमारी से निपटने में कामयाबी हासिल कर ली है.

हनिन बचपन से ही ब्रॉडकास्टर बनाना चाहती है. जब वो बड़ी हुई तब उन्होंने अपने चैनल पर अपनी कला, मेकअप और खाना बनाने की कई वीडियोज़ शेयर की.

“कैंसर से लड़ने की हिम्मत”

 अल-अरबिया के मुताबिक, हनिन की मां ने बताया कि हनिन को यह बीमारी तब हुई जब वह बहुत छोटी थी. उन्हें बचपन में बहुत तेज़ बुखार हुआ था और उनका शरीर पीला पड़ गया था. तब उन्हें किंग फैसल विशेषज्ञ अस्पताल और अनुसंधान केंद्र भर्ती किया गया तब उनके कैंसर का पता चला था और फिर एनीमिया से भी ग्रस्त थी.

source: Al Arabiya

उनका 8 साल इलाज चला लेकिन उनकी हालत में कोई सुधार नहीं आया. अतिरिक्त जांच से पता चला कि वह “वेसक्यूलिटिस” से पीड़ित है, जो आनुवंशिक उत्परिवर्तन से पैदा होती है. हनिन की तीन साल तक कीमोथेरेपी भी की गयी.

“दर्दनाक ट्रीटमेंट सहना पड़ा”

कीमोथेरेपी के करने के दौरान, उन्हें दर्दनाक पेट दर्द, उनके शरीर में सोडियम की कमी हो गयी और उनकी कमर में भी फ्रैक्चर हुआ है. उनकी मां ने किंग  फैसल विशेषज्ञ अस्पताल और अनुसंधान केंद्र में कर्मचारियों की सराहना की और उनकी बेटी के इलाज के लिए उनका शुक्रिया अदा किया क्योंकि उन्होंने हनिन का दर्द कम किया है.

source: Al Arabiya

हनिन की मां ने यह भी कहा कि उन्होंने हनीन की बिमारी में उनकी काफी मदद की है और उन्हें बहुत साहस दिया है. वह दूसरे बच्चे की भी देखभाल करती है जो आनुवंशिक उत्परिवर्तन के कारण छोटे कद और सांस संबंधी समस्याओं से जूंझ रहा है.

हर कोई हनिन की मजबूत इच्छा, धैर्य और बहादुरी की तारीफ कर रहा है.

Previous articleअमेरिका: ईरान को अपने नागरिकों का सम्मान करना चाहिए
Next articleब्लू व्हेल गेम ने फिर ली 6 किशोरों की जानें