Home अरब देश आतंकवाद के खिलाफ एक हो जाएँ सभी देश: किंग सलमान

आतंकवाद के खिलाफ एक हो जाएँ सभी देश: किंग सलमान

जकार्ता: गुरुवार को किंग सलमान ने आतंकवाद और खतरों के खिलाफ आतंरिक सुरक्षा के विषय में भाषण दिया.

आम तौर पर पूरी दुनिया को, विशेष रूप से इस्लामिक राष्ट्रों को उग्रवाद और आतंकवाद का सामना करना पड़ रहा है, संस्कृतियों का टकराव देशों के लिए असम्मानीय है. देश के आतंरिक मामलों में हस्तक्षेप की घटनाएं सबसे ऊपर हैं. हमें इन चुनौतियों का सामना करने और अंतर्राष्ट्रीय शांति और साझा हितों की दिशा में एकजुट होकर प्रयास करने की आवश्यकता है.

 दुनिया में सबसे अधिक जनसँख्या वाले मुस्लिम बहुल देश इंडोनेशिया में अपनी ऐतिहासिक यात्रा के दौरान इंडोनेशियाई संसद में उन्होंने यह टिप्पणी की. यात्रा के दूसरे दिन उन्होंने इंडोनेशिया प्रतिनिधि हाउस का दौरा किया जहाँ उन्होंने एक भाषण दिया जिस में उन्होंने इंडोनेशिया की सरकार और वहां के लोगों को अपने हार्दिक स्वागत और उदार आतिथ्य सत्कार के लिए धन्यवाद दिया.

उन्होंने कहा कि प्रतिनिधि हाउस का दौरा करने और इस्लामी एकजुटता को आगे बढ़ाने के प्रयासों को देख रिकॉर्ड बुक में हस्ताक्षर कर अपनी प्रसन्नता व्यक्त की. किंग इंडोनेशिया के प्रमुख इस्लामी स्थलों में से एक इस्तिकलाल मस्जिद भी गए जहाँ राष्ट्रपति जोको विडोडो द्वारा उनका स्वागत किया गया. राष्ट्रपति ने किंग को इस्तिकलाल मस्जिद के लिए पवित्र काबा की बेल्ट स्मृति भेंट में दी.

उन्होंने मस्जिद की स्थापना और इसके निर्माण के बारे में तथा पवित्र कुरान की स्मृतिकरण और दीनी तालीम के प्रकाशन में इसकी भूमिका के विषय में विस्तार से बताया. किंग और राष्ट्रपति विडोडो ने मर्डेका पैलेस में इंडोनेशिया की प्रमुख इस्लामिक हस्तियों से भी मुलाकात की जहाँ राष्ट्रपति ने इस्लाम की सेवा के लिए किये गए किंग के प्रयासों की सराहना की और उन पर गर्व व्यक्त किया. किंग ने ध्यान दिलाया कि आज इस्लाम को एक ऐसे अभियान का सामना करना पड़ रहा है जिस में इस्लाम को संयम और सहिष्णुता के अपने मूल्यों को कमज़ोर करने की मांग की जा रही है.

यात्रा के मौके पर वाणिज्य और निवेश मंत्री माजेद-अल-क़साबी की ओर से सऊदी इंडोनेशियाई व्यापार परिषद् ने एक बैठक का आयोजन किया जिन में छोटे और मध्यम उद्यमों के सामान्य प्राधिकरण के राज्यपाल घसन-बिन-अहमद-अल-सुलेमान ने कहा कि सऊदी अरब विज़न 2030 के अनुसार गुणात्मक निवेश को आकर्षित करना चाहता है.

संयुक्त परिषद् ने ऊर्जा, स्वास्थ्य, पर्यटन और आवास के क्षेत्र में रणनीतिक साझेदारी के कई समझौतों के मसौदे को देखा. इन करारनामों का कुल मूल्य 13.5 सऊदी रियाल है. साझेदारी समझौतों में बिजली उत्पादन क्षेत्र, स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र, आवासीय योजनायें, मानव संसाधन के क्षेत्र में विशेषज्ञता और उन्नत प्रौद्योगिकी के राष्ट्रीयकरण में दीर्घकालिक रणनीति के निर्माण संयुक्त परियोजनाएं भी शामिल थीं. समझौतों में पर्यटन और हज व उमराह सेवाएं भी शामिल हैं.