Home अरब देश पीने के पानी का इंतजाम करने को अंटार्कटिक से आइसबर्ग लाएगा संयुक्त...

पीने के पानी का इंतजाम करने को अंटार्कटिक से आइसबर्ग लाएगा संयुक्त अरब अमीरात

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) अब पानी की समस्या से निपटने के लिए आइसबर्ग (बर्फ का टुकड़ा) का सहारा लेगा. अबुधाबी की एक कंपनी ने आइसबर्ग से पीने का पानी निकालने का प्लान तैयार किया है. कंपनी ने कहा कि वो पानी के लिए लगभग 12,600 किलोमीटर दूर अंटार्टिक से आइसबर्ग खींचकर यूएई लाएगा. एक आइसबर्ग से यहां के 10 लाख लोगों को 5 साल तक पीने का पानी मिलेगा.

गौरतलब है कि यूएई में पानी की समस्या काफी पहले से है. यूएई का नाम सूखाग्रस्त देशों की टॉप टेन सूची में भी है. खबरों की मानें तो आने वाले 25 साल में यहां इतना सूखा पड़ने वाला है कि लोगों का जीना मुश्किल हो जाएगा. हालाँकि आइसबर्ग को इतनी दूर लाना और उससे पीने के पानी का इंतजाम करना इतना आसान नहीं है. कंपनी की मानें तो 2018 में इस प्रोजेक्ट की शुरुआत की जाएगी.

एक आइसबर्ग को यूएई के समुद्री तट तक लाने में लगभग एक साल लग जाएगा. उसके बाद आइसबर्ग को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर बॉक्‍स में भर दिया जाएगा. सूरज की गर्मी से जब इसकी बर्फ पिघलेगी तो उससे निकलने वाले पानी को एक अलग टैंक में इकट्ठा कर लिया जाएगा. फिर इस पानी को प्‍यूरीफॉई करके पीने के उपयोग में लाया जाएगा.

रिपोर्ट के मुताबिक, औसतन एक आइसबर्ग से 20 बिलियन गैलेन पानी निकाला जा सकता है. इतना पानी यूएई में रहने वालों के लिए पर्याप्‍त होगा, क्‍योंकि वहां जनसंख्‍या ज्‍यादा नहीं है. यही नहीं जब आइसबर्ग को समुद्र तट के किनारे रखेंगे तो उससे वहां के वातावरण में नमी आएगी. इससे बारिश होने की संभावनाओं में भी बढ़ोत्तरी होगी. अभी तक यूएई में सालाना 100 मिमी बारिश होती है जोकि यहां के लिए पर्याप्त नहीं है.