Home अरब देश अरब देश मिलकर करेंगे “जेरूसलम मुद्दे” को हल : सऊदी विदेश मंत्री

अरब देश मिलकर करेंगे “जेरूसलम मुद्दे” को हल : सऊदी विदेश मंत्री

source: SAUDI GAZETTE

ढाका – सऊदी विदेश मंत्री आदिल अल ज़ुबिर ने शनिवार को फिलीस्तीनी अधिकार को पूर्व येरुशलम के साथ एक स्वतंत्र राज्य स्थापित करने और रणनीतिक विकल्प के रूप में एक व्यापक और स्थायी शांति के महत्व के रूप में अपना समर्थन दोहराया. उन्होंने कहा कि, सभी अरब देश एक साथ मिलकर येरुशलम मुद्दे को हल करेंगे. अल ज़ुबैर ने कहा कि फिलिस्तीन मुद्दा अरब देशों के लिए सबसे महत्वपूर्ण है.

सऊदी गेजेट के मुताबिक, इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) के विदेश मंत्रियों की परिषद के 45 वें सत्र को संबोधित करते हुए अल ज़ुबैर ने कहा कि यह मुख्य सिद्धांत 2002 में बेरूत में आयोजित अरब शिखर सम्मेलन द्वारा अपनाई गई अरब शांति पहल में शामिल किया गया था. मक्का में असाधारण इस्लामी शिखर सम्मेलन 2005 में दहरान में हाल ही में 29वीं अरब शिखर सम्मेलन जिसका नाम दो पवित्र मस्जिद किंग सलमान के कस्टोडियन द्वारा अल-कुदस शिखर सम्मेलन (जेरूसलम शिखर सम्मेलन) के रूप में नामित किया गया था कि फिलिस्तीन और उसके लोग अरब और मुसलमानों के दिल में हैं.

उन्होंने आगे देकर कहा कि, “हम म्यांमार में विशेष रूप से रोहिंग्या अल्पसंख्यक, मुस्लिम अल्पसंख्यकों का समर्थन करने के महत्व को रेखांकित करते हैं और मैं इस अवसर को भाई बांग्लादेश को अपने क्षेत्र में रोहिंग्या शरणार्थियों की मेजबानी करने के लिए महान समर्थन और त्यागों की सराहना करने का अवसर देता हूं.”

उन्होंने अरब देशों के आंतरिक मामलों में ईरानी हस्तक्षेप पर भी चर्चा की. सांप्रदायिक संघर्षों का ईंधन और हौथियों और हहिज़बुल्लाह जैसे आतंकवाद के लिए ईरान इनका समर्थन करता है. साथ ही सऊदी विदेश मंत्री ने सीरियाई संकट को खत्म करने के लिए राजनीतिक समाधान खोजने की आवश्यकता पर बल दिया.

अरब न्यूज़ के मुताबिक, दहरान में अल-क़ुदस शिखर सम्मेलन में ईरान को अरब देशों से हौथी विद्रोहियों को वापस लेने और ईरानी निर्मित बैलिस्टिक मिसाइलों और हथियारों के साथ हौथियों की आपूर्ति रोकने की मांग को दोहराया. इन मिसाइलों से सऊदी के कई शहरों पर बड़े हमले किये गये है.