Home अरब देश “क़तर अरब देशों से अलग होने के लिए खुद ज़िम्मेदार है” :...

“क़तर अरब देशों से अलग होने के लिए खुद ज़िम्मेदार है” : UAE

संयुक्त अरब अमीरात के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कतरी नेतृत्व को अपने अलगाव के लिए दोषी ठहराया.

संयुक्त अरब अमीरात के राज्य मंत्री डॉ अनवर गर्गश ने अपने ट्विटर अकाउंट के माध्यम से कहा कि कतर की ईरान से नजदीकी, इज़राइल के साथ संबंधों का सामान्यीकरण और लेबनान के ईरान समर्थित हिज़बुल्लाह के साथ इसके संबंधों की वजह से अरब देशों से अलग हुआ है.

गर्गश के ट्वीट्स का हवाला देते हुए, पैन-अरब टीवी समाचार चैनल अल अरेबिया ने बताया, “कतर के अलग होने के लिए नेतृत्व की अस्पष्ट राजनीतिक उन्मुखता जिम्मेदार थीं.”

गर्गश ने यह भी दावा किया कि कतरी सरकार अपने शासक शेख तमीम बिन हमद अल तानी के अधीन कतर के लोगों का प्रतिनिधित्व नहीं कर रही थी.

“मुझे कल्पना नहीं है कि कतरी नागरिक हुती या तेहरान के साथ अपने देश के घनिष्ठ संबंधों के लिए सरकार के समर्थन से संतुष्ट हैं, और ना ही उन्होंने पहले ही इजरायल या हिज़बुल्लाह के साथ अपने संबंधों के साथ देश के सामान्यीकरण को स्वीकार किया था.”

संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब, बहरीन, मिस्र और कई अन्य देशों ने 5 जून, 2017 को कतर के साथ राजनयिक और व्यापार संबंधों को तोड़ा, गैर-अरब खाड़ी राज्य ईरान और यमन में ईरान समर्थित हुती विद्रोहियों के साथ संरेखित करने के दोहा पर आरोप लगाया गया. अरब चौकड़ी ने कतर पर भी “चरमपंथ और आतंकवाद” का समर्थन करने का आरोप लगाया. जबकि कतर ने इस सभी आरोपों से इनकार क्या है.

तब से कतर ने ईरान और तुर्की के साथ व्यापार संबंधों में वृद्धि की है ताकि बहिष्कार से होने वाले नुकसान को कम किया जा सके.