Home एशिया ‘भारत में अफ्रीकन को राक्षस की नज़र से देखा जाता हैं’

‘भारत में अफ्रीकन को राक्षस की नज़र से देखा जाता हैं’

जहरुद्दीन मोहम्मद, भारत में रहने वाला 27 साल का नाइजीरियन नागरिक का कहना है कि ‘भारत में अफ्रीकन को राक्षस की नज़र से देखा जाता हैं.

एक साल से भारत में रह-रहे जहरुद्दीन ने बताया कि अब जाकर उनको समझ आया कि बन्दर का मतलब किया होता हैं. मैं जब भी हिंदी बोलता हूँ तो हँसता रहता हूँ. भारत में एक साल से रह-रहे जहरुद्दीन ने अपने एक साल के तजुर्बे को लोगो के सामने रखा.

नोएडा की अंतर्राष्ट्रीय विश्वविद्यालय से मास्टर डिग्री प्राप्त कर रहे जहरुद्दीन ने बताया कि यहाँ पर लोग अक्सर मुझे देख कर हैरान रहते हैं, और मुझको अलग समझते है, मुझपर भरोसा करना यहाँ के लोगो के लिए थोड़ा मुश्किल होता हैं.

मैं हमेशा हिंदी बोलता हूँ और खुद ही हँसता हूँ, मैं यहाँ के लोगो से दोस्ती करना चाहता हूँ, पर मैं जब भी अपने पड़ोसियों के बच्चों को बिस्कुट खिलाने कि कोशिश करता हूँ तो वह हमेशा मुझको मना कर देते हैं.

उन्होंने बताया कि एक साल से यहाँ पर रहने के बावजूद भी मेरी आज तक भारतीय शादी में जाने की खुवाहिश पूरी नहीं हुई हैं. मैं भारतीय हिंदी सिनेमा का बहुत बड़ा प्रशंसक हूँ. मैं यहाँ इसलिए नहीं आना चाहता था क्योकि मेरे देश में अच्छे कॉलेज नहीं बल्कि मुझे दूसरी जगहों पर जाना अच्छा लगता हैं और अलग संस्कृति को सीखना अच्छ लगता हैं.

जहरुद्दीन ने बताया कि मैं कभी किसी भी भारतीय के घर नहीं गया और ना ही कभी कोई भारतीय मेरे घर आया. उन्होंने बताया कि मेरा घर का मालिक बहुत अच्छा इंसान हैं, मेरे साथ-साथ उनको भी कई बार मुश्किल हालातो का सामना करना पड़ता हैं.

जहरुद्दीन ने बताया कि उनकों हम यहाँ पर बिलकुल भी सुरक्षित फील नहीं करते हैं, हमको यहाँ हर मोड़ पर जातिवाद का सामना करना पड़ता हैं, पर मुझको इस बात का यकीन है कि यह अपना-पराया एक दिन सब जगह से खत्म हो जायेगा.

Web-Title: A story of Nigerian Civilian

Key-Words: Nigerian, India, Zahruddin Mohammad