Home एशिया बोको हरम अपहृत लड़कियों के साथ करता है बलात्कार, फिर बना देता...

बोको हरम अपहृत लड़कियों के साथ करता है बलात्कार, फिर बना देता है मानव बम

आतंकी गुट बोको हराम लड़कियों से बलात्कार करने के बाद उन्होंने आत्मघाती हमले के लिए लोगों के बीच भेज देता है।

गार्डियन समाचारपत्र में एक लेख में बोको हराम की एक आत्मघाती लड़की की दास्तां बयान की गई है। पत्र के अनुसार नादिया अहमद 17 साल की है, उसे बोको हराम के आतंकियों ने अपहृत कर लिया था। एक बार जब वह अन्य अपहृत लड़कियों के साथ इस गुट के एक सरग़ना की बातें सुन रही थी तो अचानक उस व्यक्ति ने उसे देख लिया और आदेश दिया कि उसे उसके घर लाया जाए। नादिया ने बताया कि एक दिन जब मेरी आंख खुली तो पता चला कि रात में मुझे बेहोश कर दिया गया था और मेरे शरीर पर विस्फोटक बेल्ट चढ़ा दी गई है।

इसके बाद बोको हराम के आतंकी बोरनो शहर की ओर ले गए। इसी शहर को इस आतंकी गुट की कार्यवाहियों में सबसे ज़्यादा नुक़सान पहुंचा है। नादिया का काम यह था कि वह लोगों के बीच जा कर अपने आपको उड़ा ले और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को मौत के घाट उतार दे। जैसे आतंकवाद नादिया से दूर हुए उसने अपने आपको तेज़ी से निकटतम पुलिस चौकी पहुंचा दिया और सरेंडर कर दिया। गार्डियन के अनुसार नादिया, बोको हराम के हाथों अपहृत होने वाली सैकड़ों लड़कियों में से एक है जिन्हें यह गुट अपने हमलों और आत्मघाती कार्यवाहियों के लिए इस्तेमाल करता है।

बोको हराम के चंगुल से बचने वाली एक अन्य लड़की 16 साल की फ़ातेमा है। आतंकियों ने लगातार 8 महीने तक उससे बलात्कार किया। वह कहती है कि बोको हराम के आतंकियों से वह इतनी भयभीत थी कि काफ़ी समय तक बात करने की शक्ति उससे छिन गई थी। जब उसे आत्मघाती कार्यवाही के लिए चुना गया तो वह विरोध नहीं कर सकती थी। उसने भी कार्यवाही से पहले अपने आपको पहली पुलिस चौकी में जा कर सरेंडर कर दिया।