Home एशिया चीन ने की भारी गलती, भारतीय विरासत को दिखाया पाकिस्तान का हिस्सा

चीन ने की भारी गलती, भारतीय विरासत को दिखाया पाकिस्तान का हिस्सा

चीन में शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) में दो नए सदस्य देशों के स्वागत के लिए इसके बीजिंग स्थित मुख्यालय में समारोह रखा गया जहाँ एक भारी चूक नज़र आई. हुआ यूँ कि इस समारोह में पाकिस्तान के लाहौर की झांकी दिखाने में जो दृश्य इस्तेमाल किया गया वो लाहौर का नहीं बल्कि भारत के लाल किले का था. इस दृश्य में भारतीय तिरंगा लहराता हुआ साफ़ नज़र आ रहा है. इस तस्वीर को पाकिस्तान के लाहौर का शालीमार गार्डन बताया गया था.

समारोह में उस तस्वीर को देख भारतीय और पाकिस्तानी राजनयिक ने इस पर विरोध जताया तो एससीओ के अधिकारियों ने अपनी गलती मानते हुए इसे हटा लिया। दरअसल, यह गलती समारोह के आयोजकों की तरफ से हुई थी. आयोजकों ने अंतिम समय तक भी फोटो क्रॉसचेक नहीं की. अधिकारियों ने भी इस बात को माना और कहा कि चूंकि भारत और पाकिस्तान दोनों की भागीदारी वाला यह पहला कार्यक्रम था इसलिए सजगता जरूरी थी लेकिन ऐसा नहीं हो सका और यह गलती हो गई.

ज्ञात हो कि पिछले हफ्ते कजाकिस्तान के अस्ताना में हुई शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में भारत और पाकिस्तान को स्थाई सदस्य देश के रूप में शामिल किया गया है. एससीओ का गठन साल 2001 में हुआ था. इसके सदस्य देशों में रूस, चीन, कजाकिस्तान, उजबेकिस्तान, ताजिकिस्तान, किर्गिस्तान हैं. अब से भारत और पाकिस्तान भी इस समूह के सदस्य देश हो गए हैं. यानी अब इस संगठन के सदस्य देशों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है. इस संगठन का मुख्यालय बीजिंग में है. इसे पॉलिटिकल और सिक्योरिटी ग्रुप कहा जाता है. सदस्य देश इस मंच के जरिए आतंकवाद के खिलाफ खुफिया जानकारी साझा करते हैं.