Home एशिया ढाका हमले में सामने आया नया सच, आतंकियों ने की थी मांग

ढाका हमले में सामने आया नया सच, आतंकियों ने की थी मांग

बंगलादेश की राजधानी ढाका में शुक्रवार को हुए आतंकी हमले में एके नया मामला सामने आया हैं. प्राप्त सूचना के अनुसार आतंकियों की मांग थी कि नागरिकों की रिहाई के बदले में उनके साथियो को रिहा किया जाये साथ ही उनको सुरक्षित बाहर जाने दिया जाये. जिसको बांग्लादेशी सरकार ने ख़ारिज कर दिया था. जिसका खामियाजा विदेशी नागरिकों को अपनी जान गवा कर चुकाना पड़ा.

आतंकियों ने होली आर्टिसन कैफे में इसलिए बंधक बनाए थे क्योकि इसके आसपास दुनिया के बड़े देशों के दूतावास और उच्चायोग हैं. इस कैफे से कुछ ही दूरी पर भारत, अमेरिका और ब्रिटेन देशो के दूतवास है.

अमूमन देखा जाता है कि इस कैफे में दूसरे देशों के राजनयिकों की भीड़ रहती है, ऐसा ही तब भी हुआ जिस वक़्त रेस्टोरेंट पर आतंकियों ने हमला किया, हमले के वक़्त कैफे के अंदर बांग्लादेशियों के अलावा श्रीलंका, इटली और जापान जैसे देशों के नागरिक मौजूद थे. वही प्राप्त सूचना के मुताबिक आतंकी 1 जुलाई की रात करीब 9 बजे कुछ अचानक कैफे के अंदर घुसे थे.

इस घटना की सूचना मिलते ही सुरक्षा कर्मी मौके पर पहुंच गए, लेकिन आतंकियो ने उन्हें अंदर आने से रोकने के लिए बंधक बनाए गए लोगों को सामने कर दिया.

जिसके बाद आतंकियों दुवारा कैद किये गए नागरिकों को बचाने के लिए सुबह करीब 5 बजे बांग्लादेश की रैपिड एक्शन फ़ोर्स के जवानों ने सेना और पुलिस के साथ मिलकर ऑपरेशन थंडरबोल्ट लांच किया. और हमला शुरू कर दिया, जवाबी हमले में आतंकियों ने बंधकों की हत्या करनी शुरू कर दी.

सुबह 5 बजे से 10 बजे चली इस मुठभेड़ के बाद 13 बंधकों को सुरक्षित बाहर निकल लिया गया जबि 20 निर्दोष विदेशी नागरिकों को अपनी जान गवानी पड़ी.

Web-Title: Dhaka attacks new exposure

Key-Words: Dhaka, Bangladesh, ISIS, Terrorist, Restaurant, hostages