Home एशिया भारत के इस व्यापारी ने किया वाकई सरहानीय काम

भारत के इस व्यापारी ने किया वाकई सरहानीय काम

अपनी बेटी कि शादी पर खर्च करने के बजाय इस भारतीय व्यापारी ने परंपरा से जुदा होते हुए गरीबो को घर बांटने का फैसला किया. भारत में विमुद्रीकरण के बाद देखा गया कि देश के नेताओं और कई लोगो ने अपनेइ बेटियो और बेटो की शादी में खूब पैसा लुटाया लेकिन इस व्यापारी ने शादी पर पैसा लुटाने से ज़्यादा गरीबो के बारे में सोचा.

अजय मुणोत,जोकि पूर्वी भारत में गेहूं और कपड़े के एक थोक व्यापारी हैं, भारतीय मीडिया के अनुसार इन्होंने करीब 10 भवन उन गरीबो को दान किये हैं जिनके पर सिर छुपाने को छत भी नहीं थी.

सभी भवन 12 से 20 वर्ग फुट के बीच बने हुए हैं. उनकी बेटी भी अपने पिता के इस फैसले से खुश हैं और उनका समर्थन भी कर रही हैं.