Home एशिया पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित करने के खिलाफ भारत की मोदी सरकार

पाकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित करने के खिलाफ भारत की मोदी सरकार

जहां एक तरफ पाकिस्तान में हाफिज़ सईद को आतंकवादी घोषित कर दिया गया हैं. वही दूसरी तरफ भारत में पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित करने की मांग भी उठने लगी हैं. लेकिन इस पर हैरानी की बात ये रही कि पाकिस्तान को बुरा कहने वाली देश की सरकार ही इसके आड़े आ गयी हैं.

दरअसल, भारत की राज्यसभा में सांसद राजीव चंद्रशेखर ने पकिस्तान को आतंकी राष्ट्र घोषित करने के लिए आतंकवाद प्रायोजक देश की घोषणा विधेयक, 2016 नामक एक प्राइवेट मेंबर बिल राज्यसभा में पेश किया था. साथ ही उन्होंने पाकिस्तान का मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा खत्म करने की भी मांग की थी.

जिस पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बिल का विरोध करते हुए संसदीय सचिवालय को लिखा कि इससे अंतरराष्ट्रीय संबंधों के लिए खतरा पैदा हो सकता है. एक वरिष्ठ सरकारी अफसर ने कहा कि हमारे पड़ोसी देशों के साथ कूटनीतिक संबंध हैं.

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार भारत किसी देश को आतंकी राष्ट्र घोषित नहीं कर सकता क्योंकि उसे सभी देशों के साथ कूटनीतिक रिश्ते रखने होते हैं. इसके अलावा, सैद्धांतिक रूप से यह भी बेहद दुलर्भ है कि सरकार किसी निजी विधेयक का समर्थन करे. उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मानदंडों के तहत किसी भी पड़ोसी देश को आतंकी देश घोषित करना समझदारी नहीं होगी.

उल्लेखनीय हैं कि पिछले सप्ताह में पाकिस्तान में हुए आतंकी हमलो ने ना केवल पाकिस्तान को दहलाया बल्कि पूरी दुनिया में इससे दहशत फ़ैल गयी हैं. बीते दिनों में हुए आतंकी हमलो में सैकड़ो लोग मारे जा चुके हैं जबकि सैकड़ो घायल हुए हैं.

इन हमलो के बाद पाकिस्तान सरकार की आँखे खुली और उसने इन आतंकियों पर अंकुश लगाने की नीति अपनायी जिसके अंतर्गत उसने 100 से अधिक आतंकी मार गिराए और हाफिज सईद को भी आतंकी घोषित कर दिया.