Home एशिया कश्मीर में जुमे की नमाज़ पर पाबन्दी बरक़रार, धर्मगुरुओं ने जताई नाराज़गी

कश्मीर में जुमे की नमाज़ पर पाबन्दी बरक़रार, धर्मगुरुओं ने जताई नाराज़गी

भारतीय प्रान्त कश्मीर घाटी में हालातो में काफी सुधार हुआ हैं लेकिन राज्य सरकार ने अभी भी जुमे की नमाज़ पर प्रतिबन्ध लगा रखा हैं. वर्ल्ड न्यूज़ अरबिया को मिली जानकारी के अनुसार राज्य प्रशासन ने कश्मीर के कई केंद्रों पर जुमा दिवस के दिन जुमा की नमाज़ पर रोक लगाए रखी.

सरकार के इस फैसले पर राज्य के धार्मिक उलमाओं ने कड़ी प्रतिक्रिया स्पष्ट की हैं, धर्मगुरुओं का कहना हैं कि ये धर्म में दखलंदाज़ी हैं. इसके अतरिक्त राज्य की हाई कोर्ट में एक हफ्ते के भीतर इस प्रतिबन्ध को हटाने की मांग करते हुए एक याचिका भी दायर की गयी हैं. याचिका में सरकार से ये भी सवाल किये गए हैं कि उन्होंने ऐतिहासिक मस्जिद और केंद्रीय मस्जिदों में नमाज़ पर रोक क्यों लगा रखी हैं.

उल्लेखनीय हैं कि भारतीय सेना और आम नागरिको के बीच हुए संघर्ष के बाद घाटी में अशांत माहौल पैदा हो गया था. हिज़्बुल मुजाहिदीन कमांडर बुरहान वानी की मौत के बाद भारतीय सेना ने उसमे और पेट्रोल डाल दिया.

प्रदर्शनकारियों और सेना के बीच हुई झड़पो में सेना ने बेबाक तरीके से पैलेट गन का इस्तेमाल किया जिसमे सैकड़ो नागरिको की मौत हो गयी, जिसमे बच्चे भी शामिल हैं, जबकि हज़ारो घायल हो गए और कई तो ऐसे हैं जिन्होंने अपनी आंखे ही खो बैठी.

ये न्यूज़ पर्स टुडे से ली गयी हैं.

Web-Title: Kashmir is unrest, still ban on Juma prayer

Key-Words: Juma, Prayer, ban, Kashmir, India