Home एशिया विदेशी बंदरगाहों की निगरानी एक बहाना है, जंग छेड़ना चाहता है अमेरिका:...

विदेशी बंदरगाहों की निगरानी एक बहाना है, जंग छेड़ना चाहता है अमेरिका: रूस

रूस की विदेश नीति परिषद के प्रमुख ने अमरीका की विदेशी बंदरगाहों की निगरानी करने की योजना की निंदा की है।

एक टीवी चैनल के अनुसार, रूस की विदेश नीति परिषद के प्रमुख कोन्सटैनटीन कोसाचेफ़ ने अमरीका की विदेशी बंदरगाहों की निगरानी की योजना को जंग के एलान की संज्ञा दी है। उन्होंने अमरीका की विदेशी बंदरगाहों में उपस्थिति पर आधारित योजना के तहत नौकाओं का रास्ता रोकने के लिए अमरीकी नौसेना को दी गयी इजाज़त को बहुत ही ख़तरनाक बताया। कोन्सटैनटीन कोसाचेफ़ कहा कि अमरीका संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का ठेकेदार नहीं है जो उत्तर कोरिया पर लगी पाबंदी के पालन के संबंध में संतोष हासिल करे।

रूसी संसद में रक्षा आयोग के उपप्रमुख आंद्रे क्रासेफ़ ने भी कहा कि किसी भी अमरीकी नौका को रूसी जलक्षेत्र में दाख़िल होने की अनुमति नहीं है और किसी भी तरह के ग़ैर ज़िम्मेदाराना क़दम की स्थिति में अमरीका को जवाबी कार्यवाही का सामना करने के लिए तय्यार रहना चाहिए।

ग़ौरतलब है कि अमरीकी प्रतिनिधि सभा ने शुक्रवार को एक योजना पारित की जिसमें अमरीकी नौसेना को इस बात की इजाज़त का प्रावधान है कि वह उत्तर कोरिया पर लगी पाबंदी के पालन को निश्चित बनाने के लिए चीन, सीरिया और रूस की बंदरगाहों सहित विदेशी बंदरगाहों की निगरानी कर सकती है