Home एशिया चीन में बुजुर्गों के सामने धूम्रपान न करने पर मुस्लिम अधिकारी को...

चीन में बुजुर्गों के सामने धूम्रपान न करने पर मुस्लिम अधिकारी को दी गयी सजा

चीन के शिनजियांग प्रांत के अधिकारियों ने मुस्लिम अधिकारियों के सामने धूम्रपान करने से मना करने पर एक स्थानीय अधिकारी को दण्डित किया है. हॉटन प्रान्त में एक गांव के कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख जेलील मतानाज को धार्मिक आदमियों के सामने धूम्रपान करने का साहस नहीं करने पर पद से हटा दिया गया. शनिवार को जारी की गयी रिपोर्ट में कहा गया. शिनजियांग स्वदेशी उईघुर जातीय अल्पसंख्यक के सदस्य के रूप में पहचाने जाने वाले मटनियाज को दृढ़ राजनैतिक रुख न रखने वाला व्यक्ति कहा गया.

राज्य के ग्लोबल टाइम्स अखबार ने मंगलवार को अन्य स्थानीय अधिकारियों के हवाले से कहा था कि सरकार के नेताओं को धर्मनिरपेक्षता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को प्रदर्शित करने के लिए धूम्रपान के खिलाफ धार्मिक प्रतिबंधों का पालन करने के बजाए पीछे हटना चाहिए.

शिनजियांग प्रांत में हुई इस घटना में दी गयी सजा से साफ़ होता है कि अधिकारी उइघुर संस्कृति वाले दक्षिणी होतन प्रांत में अपनी मनमानी की चरम सीमा पर हैं.

चीनी अधिकारियों और राज्य-नियंत्रित मीडिया ने उइघुर इस्लामिक आतंकवादियों पर आरोप लगाते हुए खूनी विद्रोह के जवाब में आधिकारिक तौर पर अपने आधिकारिक वक्तव्य में उग्रवाद के साथ धार्मिक अभिव्यक्ति को बराबरी पर कहा है.

सरकार ने तर्क दिया है कि उनका महिलाओं को बुरका पहनने से रोकना और पुरुषों को लम्बी दाढ़ी रखने से रोकना केवल कट्टरपंथियों को रोकने का प्रयास भर है. वहीँ प्रवासी उइघुर वकीलों के समूह का कहना है कि इन प्रतिबंधों ने भारी-भरकम चीनी शासन के प्रति केवल असंतोष बढ़ाया है और क्रांति और हिंसा के चक्र को बढ़ाया है.

हालाँकि धूम्रपान को मुस्लिम संसार के कई हिस्सों में सख्ती से प्रतिबंधित नहीं किया गया है. लेकिन कभी कभी इसे हतोत्साहित ज़रूर किया जाता है. मतनियाज़ की सजा ऐसे में बहुत अजीब लगती है जब चीन में आधे से ज्यादा आदमियों के धूम्रपान को देखते हुए स्वास्थ्य महकमा इस बारे में काम कर रहा है.

होतन डेली अखबार ने कहा कि कम से कम 9 7 स्थानीय अधिकारियों को कम्युनिस्ट पार्टी का हिस्सा होने के कारण जांच से छोड़ दिया गया. रिपोर्ट में यह संकेत दिया गया कि झिंजियांग के क्षेत्रीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता और सर्वोच्च रैंकिंग अधिकारी, चेन क्वानगुओ द्वारा व्यक्तिगत रूप से जांच की गई थी, जिन्होंने चरमपंथ के बारे में कड़ी आलोचना की है.

चेन का अगस्त में तिब्बत से शिनजियांग में तबादला किया गया था. तिब्बत एक और ऐसा क्षेत्र है जहाँ देश के अन्य हिस्सों की तुलना में गैर-जातीय चीनी निवासी कहीं ज्यादा गंभीर, सामाजिक, राजनीतिक और धार्मिक प्रतिबंधों के तहत लंबे समय से रहते आ रहे हैं.

हाल के महीनों में चेन ने सुरक्षा उपायों को खारिज कर दिया है और सशस्त्र अर्द्धसैनिक पुलिस और बख़्तरबंद टैंकों के फालेनक्स को बड़े पैमाने पर प्रदर्शन के दौरान होतन की सड़कों के माध्यम से भेजा है.

रेशम रोड पर एक प्राचीन स्टॉप, होतन और इसके आसपास के क्षेत्र में हाल के वर्षों में हिंसा में बढ़ोतरी हुई है. राज्य की मीडिया ने खबर दी कि दिसम्बर में कम्युनिस्ट पार्टी की एक ईमारत में घुसपैंठ की गयी जिसमें एक व्यक्ति मारा गया. कुछ ही महीनों बाद होतन में चाकूबाजी में एक हमले में 8 लोग मारे गए.