Home एशिया रोहिंग्या का कोई अस्तित्व ही नहीं हैं म्यांमार के इतिहास में –...

रोहिंग्या का कोई अस्तित्व ही नहीं हैं म्यांमार के इतिहास में – म्यांमार धार्मिक मंत्रालय

म्यांमार का धार्मिक मंत्रालय रोहिंग्या मुसलमानो को स्वेदेशी ना होने को साबित करने के लिए एक किताब लिखने जा रहा हैं. उल्लेखनीय हैं कि हाल ही में म्यामार कि सेना द्वारा जारी सुरक्षा अभियान में अल्पसंख्यक समुदाय को निशाना बनाया गया हैं, जिसके बाद यहाँ पर हालात काफी पेचीदा हो गए हैं. रोहिंग्या मुसलमानो का देश में रहना दुश्वार हो गया हैं.

नवम्बर से जारी सरकारी सेना के सुरक्षा अभियान के बाद से करीब 27000 रोहिंग्या मुसलमान बांग्लादेश पलायन कर चुके हैं. इन आंकड़ो की जानकारी संयुक्त राष्ट्र संघ ने मंगलवार को दी. नवम्बर में शुरू हुए इस सुरक्षा अभियान के बाद रोहिंग्या मुसलमानो का रहना दूभर हो गया हैं. सुरक्षा अभियान में सिर्फ मुसलमानो को निशाना बनाया गया, उनके घरो को ध्वस्त किया गया, मुस्लिम महिलाओं के साथ आर्मी वालो रेप किया.

म्यांमार के मुस्लिम महिलओं की भयंकर कहानियो ने पूरे विश्व को हिला कर रख दिया, और नोबेल प्राइज विनर ऑंन्ग सैन सू की सरकार पर सवालिया निशान खड़े कर दिए.

वही म्यांमार की सरकार इन आरोपो को गुस्से के साथ नकार रही हैं. साथ ही संकट पर चर्चा करने के लिए अगले सप्ताह एक आपातकालीन ASEAN बैठक भी बुलाई हैं.

सोमवार को धर्म और सांस्कृतिक मामलों के मंत्रालय ने फेसबुक पर घोषणा की, हम आपको बताना चाहते हैं हम वास्तविक म्यांमार इतिहास की एक किताब प्रकाशित करने जा रहे हैं, और सच ये हैं कि रोहिंग्या शब्द कभी अस्तित्व में ही नहीं था.”

Web-Title: Myanmar govt published a book to prove that rohingya does not existed in myanmar history

Key-Words; Myanmar, Rohingya, history, book