Home एशिया अब दिल्ली में भी उठी वहाबियत के खिलाफ आवाज़

अब दिल्ली में भी उठी वहाबियत के खिलाफ आवाज़

भारत के बड़े और प्रखर विचारकों में शुमार और राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन के संस्थापक के. एन. गोविंदाचार्य ने दिल्ली में कहा कि वहाबियत का ज़हर भारत और पूरी दुनिया के लिए बहुत ही खतरनाक है. उन्होंने कहा कि वहाबियत के ख़तरों को ले कर भारत की जनता को जागरूक किया जाना बहुत ज़रूरी है इसलिए हर राज्य में वहाबियत के ख़िलाफ़ एक मुहिम चलाई जानी चाहिए। उन्होंने उम्मीद जताई कि राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन वहाबियत के ख़िलाफ़ अभियान का नेतृत्व करेगा.

वरिष्ठ गांधीवादी एस. एन. सुब्बाराव ने कहा कि भारत ऐसा मुल्क है जहाँ सब लोग मिल जुल के प्यार से रहते हैं और गांधी जी के सर्वधर्म सम्भाव के पथ पर चलकर ही हिंदुस्तान आगे बढ़ सकता है. उन्होंने कहा कि भारत में कट्टरपंथ के लिए कोई जगह नहीं है.

समारोह को संबोधित करते हुए युवा क्रांति के नेता और राष्ट्रीय स्वाभिमान आंदोलन की राष्ट्रीय सुरक्षा व विदेश मामलों की सेल के प्रभारी अभिमन्यु कोहाड़ ने कहा कि वहाबियत की वजह से ही जम्मू कश्मीर में हालात इतनी तेज़ी से बिगड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि सऊदी अरब वहाबियत के फैलाव का सबसे बड़ा केंद्र है. उन्होंने ये भी कहा कि आज के दिन दुनिया में जितने भी आतंकी संगठन हैं वे सभी किसी न किसी रूप में वहाबियत से जुड़े हुए हैं.