Home एशिया भारत की जनता को खुश करने के लिए सरकार ने दिया सर्जिकल...

भारत की जनता को खुश करने के लिए सरकार ने दिया सर्जिकल स्ट्राइक का डोस- पाकिस्तानी सेना प्रवक्ता

पकिस्तान ने भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के दावे को ख़ारिज करते हुए इसको झूठा बताया हैं. भारत ने दावा किया था की भारतीय सेना ने पाकिस्तान में घुसकर हमला किया. इसके साथ-साथ संयुक्त राष्ट्र ने भी भारतीय सर्जिकल स्ट्राइक्स पर सवाल उठाये थे.

इस हफ्ते पकिस्तान में छपने वाले उर्दू अखबारो की बात की जाए तो भारत-पाक नियंत्रण रेखा पर भारत का सर्जिकल स्ट्राइक का दावा और संयुक्त राष्ट्र आम सभा में भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का भाषण सुर्ख़ियों में रहा.

भारतीय सेना के डीजीएमओ लेफ़्टिनेंट जनरल रनबीर सिंह ने 29 सितंबर को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी कि पुख़्ता इंटेलिजेंस मिलने के बाद भारतीय सेना की विशेष टुकड़ी ने भारत-पाक नियंत्रण रेखा पर मौजूद आतंकवादियों को निशाना बनाया और उनके कई ठिकानों को मटिया-मेट कर दिया.

लेकिन पाकिस्तान ने भारत के इन दावों को ख़ारिज करते हुए कहा कि भारत भ्रम फैला रहा है और दोनों देशो के बीच संघर्ष विराम का उलंघन हुआ जिसमे पाकिस्तान के दो जवान मारे गए.

पाकिस्तान से छपने वाले उर्दू दैनिक नवा-ए-वक़्त ने लिखा, “कोई सबूत न गवाह कश्मीर में सर्जिकल स्ट्राइक का नया भारतीय झूठ.”

अख़बार ने पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता आसिफ़ बाजवा के हवाले से लिखा है कि “भारतीय जनता को ख़ुश करने के लिए ये झूठ गढ़ा गया है. इसके साथ-साथ अख़बार लिखता हैं कि पाकिस्तानी सेना की जवाबी कार्रवाई में आठ भारतीय सैनिक मारे गए और एक भारतीय सैनिक को बंदी बना लिया गया है.

रोज़नामा दुनिया ने अपने लेख के टाइटल में लिखा कि “नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना का भरपूर जवाब, आठ भारतीय फ़ौजी मारे गए, एक गिरफ़्तार.”

वही रोज़नामा एक्सप्रेस लिखता हैं कि “भारतीय सेना की फ़ायरिंग की जवाबी करवाई में पाकिस्तानी सेना की तरफ़ से की गई फ़ायरिंग में 14 भारतीय सैनिक मारे गए.”