Home एशिया दुबई में ‘ब्लडमनी’ लेकर पाकिस्तानी परिवार ने माफ़ किया बेटे का हिन्दुस्तानी...

दुबई में ‘ब्लडमनी’ लेकर पाकिस्तानी परिवार ने माफ़ किया बेटे का हिन्दुस्तानी कातिल

दुबई में 2015 में कथित झगडे को लेकर एक पाकिस्तानी की हत्या करने वाले 10 भारतीय मौत की सजा से बच सकते हैं क्योंकि मृतक का परिवार ‘ब्लडमनी’ (bloodmoney) लेकर हत्यारों को माफ़ करने के लिए तैयार हो गया है. भारतीय दूतावास के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी युवक मोहम्मद फरहान के पिता मोहम्मद रियाज़ ने अल-ऐन अपील अदालत में पेश हो कर सभी 10 भारतीय आरोपियों को माफ़ करने का सहमति पत्र जमा करा दिया है.

मोहम्मद रियाज़ ने कहा कि ये उनकी बदकिस्मती है कि उन्होंने अपना बेटा खोया. उन्होंने युवा पीढ़ी से ऐसे झगड़े-फसादों में न पड़ने की अपील की. उन्होंने कहा कि दरअसल अल्लाह ने उन लोगों की ज़िन्दगी बचाई है. मोहम्मद रियाज़ ने सभी 10 आरोपियों को माफ़ करने की बात कही. एक पत्नी और बच्चों सहित तकरीबन 10 लोगों की ज़िन्दगी आर्थिक रूप से एक ही व्यक्ति पर निर्भर थी.

और पढ़ें: सऊदी अरब में लगातार बढ़ रहा है ‘इस’ क्राइम का ग्राफ

आबूधाबी में भारतीय दूतावास में सामुदायिक मामलों के काउंसलर दिनेश कुमार ने कहा कि आरोपियों की तरफ से एक भारतीय संगठन ने अदालत में मृतक को परिवार को आरोपियों को माफ़ी देने की एवज में दिया जाने वाला धन यानि ब्लडमनी जमा करा दी है. इस मामले में ब्लडमनी 2,00,000 दिरहम तय की गयी है. अदालत ने इस मामले की आगे की सुनवाई 12 अप्रैल तक स्थगित कर दी है.

कुमार ने बताया कि काफी हद तक उम्मीद है कि अदालत इस मामले में सजा को बदल दे. दिसम्बर 2015 में अल-ऐन में शराब की अवैध बिक्री को लेकर कथित तौर पर ये हत्या की गयी थी. पंजाब के 11 व्यक्ति इस मामले में दोषी ठहराए गए थे लेकिन एक आरोपी सजा से बच गया था. आरोपी की ओर से ब्लडमनी देने वाले सरल द भला चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष एसपीएस ओबेरॉय का कहना है कि इस पूरे मामले में पाकिस्तानी परिवार से आरोपी को माफ़ी दिलवाना बेहद मुश्किल काम रहा.

web title – Pakistani family apologized son’s killer for ‘bloodmoney’

paragraph – Due to alleged conflicts in Dubai in 2015, one Pakistani man who killed a Pakistani can escape the sentence of death because the deceased’s family has got ready to forgive the killers by taking ‘bloodmoney’.