Home एशिया रूस ने किया अमेरिकी मिसाइलों को मार गिराने का युद्ध अभ्यास

रूस ने किया अमेरिकी मिसाइलों को मार गिराने का युद्ध अभ्यास

रूस के लड़ाकू विमान मेग-31 की एक टुकड़ी ने वायु अभ्यास में क्रूज मिसाइलों के खिलाफ अभ्यास किया।

विदेशी समाचार एजेंसी के अनुसार रूसी नौसेना के प्रशांत बेड़े के प्रवक्ता “ब्लादिमीर मातूइफ” ने अभ्यास के संदर्भ में कहा कि अभ्यास में रूस के पायलटों ने उन क्षेत्रों और उस ऊंचाई तक क्रूज मिसाइलों के खिलाफ उड़ान भरते हुए मिसाइलों को भेदने का अभ्यास किया जिसका उन्हें अनुभव नहीं था।

उन्होंने कहा कि लड़ाकू विमान इस अभ्यास को करने के लिए गोला-बारूद से पूर्ण रूप से लैस थे और पायलटों ने क्रूज़ मिसाइलों और लड़ाकू विमानों के हवाई मुकाबले से निपटने का अभ्यास किया।

मिंग-31 आठ मिसाइलों से लैस है जिसमें 4 लंबी दूरी की मार करने वाली मिसाइल R-33 और 4 कम दूरी की मार करने वाली मिसाइल R-77 है।

जवीजदा वेबसाइट मे प्रकाशित लेख के अनुसार R-33 मिसाइल का वजन 493 किलोग्राम से अधिक है और 120 किलोमीटर दूरी तक मार करती है।

रूस की न्यूज़ एजेसी स्पुतनिक ने मिंग-31 को लड़ाकू विमान की चौथी पीढ़ी बताया है जोकि अमेरिका की टॉमहॉक मिसाइल की विशेषता रखती है जो किसी भी गति और ऊंचाई पर मार करने की क्षमता रखती है।

इस लडाकू विमान की एक दूसरी विशेषता यह है कि वह कम ऊंचाई पर सेटेलाइट को भी भेद सकते है।