Home एशिया इस्लामिक आर्गेनाइजेशन आया रोहिंग्या मुसलमानो के समर्थन में खुलकर आगे, कहा अब...

इस्लामिक आर्गेनाइजेशन आया रोहिंग्या मुसलमानो के समर्थन में खुलकर आगे, कहा अब नही रही यह आंतरिक समस्या

रोहिंग्या मुसलमानो के खिलाफ म्यांमार में चलाये गए सरकारी सुरक्षा अभियान के बाद रोहिंग्या मुसलमानो का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया था, अक्टूबर 2016 से जारी मुसलमानो के खिलाफ जारी इस अभियान के कारन हज़ारो मसुलमानों को पलायन करना पड़ा.

अब किसी भी अंतरराष्ट्रीय संगठन या संस्था से यह बात छिपी नहीं है कि म्यांमार के रोहिंग्या मुसलमानों की समस्या एक आंतरिक समस्या नहीं है बल्कि एक अंतरराष्ट्रीय समस्या है. इस आधार पर म्यांमार के मुसलमानों की समस्या का समाधान विश्व समुदाय के सामूहिक प्रयास में नीहित है. 

इस पर रौशनी डालते हुए आर्गेनाईजेशन ऑफ़ इस्लामिक कॉरपोरेशन (OIC) का कहना है कि ऐसे हालातो के बाद ये समस्या अब सिर्फ आंतरिक समस्या नहीं अब ये अंतरराष्ट्रीय समस्या हैं. इस आधार पर म्यांमार के मुसलमानों की समस्या का समाधान विश्व समुदाय के सामूहिक प्रयास में नीहित है.

संयुक्त राष्ट्रसंघ की रिपोर्ट के अनुसार 2016 से अब तक 87 हज़ार मुसलमान अपना घर बार, कार्य स्थल और खेत छोड़कर चले गये हैं. मुसलमानों के विरुद्ध हिंसा और उनकी हत्या में इस देश की सरकार की भी उल्लेखनीय भूमिका है और इसके लिए वह बौद्धधर्म के अतिवादियों के साथ मिलकर कार्यवाही कर रही .

म्यांमार में मुसलमानों के विरुद्ध होने वाली हिंसा से संयुक्त राष्ट्रसंघ, इस्लामी सहयोग संगठन, जनसंगठन और इस्लामी जगत चिंतित है और इस्लामी सहयोग संगठन ओआईसी ने मुसलमानों के विरुद्ध होने वाली हिंसा को नस्ली सफाये का नाम दिया है.