ईरान के सेनाध्यक्ष ने कहा है कि अगर पाकिस्तान में आतंकी गुटों के अड्डे बाक़ी रहते हैं और उनके प्रशिक्षण केंद्रों की गतिविधियां जारी रहती हैं तो ईरान, संयुक्त राष्ट्र संघ के घोषणापत्र के आधार पर इन केंद्रों से स्वयं निपटने को अपना स्पष्ट व अंतर्राष्ट्रीय अधिकार मानता है।

मेजर जनरल मुहम्मद बाक़ेरी ने सोमवार को क़ुम नगर में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि पाकिस्तानी अधिकारियों से ईरान की मांग यह है कि वह या तो स्वयं अपने क्षेत्रों से आतंकी गुटों की उपस्थिति के ठिकानों को समाप्त करे या फिर इस बात की अनुमति दे कि ईरानी बल मैदान में उतरें और इन आतंकी गुटों को ठिकाने लगा दें।

source-twitter

उन्होंने इस बात का उल्लेख करते हुए कि ईरान ने पाकिस्तान के राजनेताओं और सैन्य अधिकारियों से गंभीर वार्ता शुरू कर दी है, कहा कि पाकिस्तान की ज़िम्मेदारी है कि वह अपनी सीमाओं की रक्षा करे और ईरान से मिलने वाले सीमावर्ती क्षेत्रों को आतंकी गुटों के वुजूद से मुक्त करे।

ईरान के सेनाध्यक्ष ने इसी तरह ईरान की सुरक्षा में विघ्न डालने के कुछ रुढ़ीवादी क्षेत्रीय देशों के षड्यंत्रों की तरफ़ इशारा करते हुए कहा कि पाकिस्तान में सऊदी अरब व संयुक्त अरब इमारात के पैसों से कुछ गुप्त और कुछ खुल कर आतंकी प्रशिक्षण केंद्र बनाए गए हैं ताकि ईरान के भीतर अशांति पैदा की जा सके।मेजर जनरल मुहम्मद बाक़ेरी ने कहा कि पिछले दो महीनों में ईरान पर 95 प्रतिशत आतंकी हमलों को सशस्त्र बलों ने नाकाम बनाया है।

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here
[sm-youtube-subscribe]
आज की पसंदीदा ख़बरें
[wpp limit=5]
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here