Home यूरोप तख्तापलट कोशिश में हुई 104 लोगो की मौत, 754 विद्रोही सैनिक अरेस्ट

तख्तापलट कोशिश में हुई 104 लोगो की मौत, 754 विद्रोही सैनिक अरेस्ट

तुर्की में हुए तख्तापलट की नाकाम कोशिश ने देश में हिंसा का माहौल पैदा कर दिया. शुक्रवार को आर्मी ने सत्ता पर कब्जा कर मार्शल लॉ लागू करने का दावा किया था जिसके बाद छिड़ी हिंसा में अब तक 104 लोगो की मौत हो चुकी हैं. जबकि एक हज़ार से ज़्यादह लोग घायल हो चुके हैं. हालाँकि 754 लोगो को अभी तक हिरासत में लिया जा चूका हैं.

इसके बाद शुक्रवार रात आर्मी के एयर अटैक में 17 पुलिस अफसरों की जान चली गई, इस्तांबुल में दो सिविलियन मारे गए, पार्लियामेंट के बाहर दो ब्लास्ट हुए, देश के राष्ट्रपति रैचेप तैयाप एर्दोगन के घर के पास भी बम बरसाए गए.

आर्मी दुवारा देश में एर्दोगन हुकूमत का तख्ता पलटने की कोशिश को देश के नागरिकों ने स्वीकार करने से इंकार कर दिया जिसके बाद देश के राष्ट्रपति एर्दोगन देश वापस लौट आये और एक बयान जारी किया कि देश की कमान अब भी उनके ही हाथो में हैं.

तख्तापलट की खबरों के बाद आठ करोड़ की जनसँख्या वाले इस देश के दो सबसे बड़े शहरो अंकारा और इस्तांबुल में पूरी रात गोलाबारी होती रही. शुक्रवार की पूरी रत के बीतने के बाद तख्तापलट के समर्थन में रहे सैनिकों ने इस्तांबुल में बोसफोरस पुल पर आत्मसमर्पण कर दिया.

सुबह होते ही राष्ट्रपति एर्दोगन इस्तांबुल के हवाई अड्डे पहुंचे जहां उनके समर्थकों ने उनका स्वागत किया, प्राप्त सूचना अनुसार एर्दोगन ने तख्तापलट के प्रयास की निन्दा की और इसे ‘विश्वासघात’ बताया.

उन्होंने कहा कि वह अपने काम कर रहे हैं और ‘अंत तक’ काम करना जारी रखेंगे. ‘जो भी साजिश रची जा रही है, वह देशद्रोह और विद्रोह है. उन्हें देशद्रोह के इस कृत्य की भारी कीमत चुकानी होगी.’ ‘हम अपने देश को कब्जे की कोशिश कर रहे लोगों के हाथों में नहीं जाने देंगे.’

Web-Title: turkey coup attempt Unsuccessful, hits violence

Ket-Words: Turkey, Army, Attempt, Unsuccessful, Erdgon,President, Istanbul, Ankara