Home यूरोप इंग्लैंड की फाहमा मोहम्मद बनी सबसे कम उम्र में डॉक्टरेट की उपाधि...

इंग्लैंड की फाहमा मोहम्मद बनी सबसे कम उम्र में डॉक्टरेट की उपाधि हासिल करने वाली छात्रा

मौजूद वक़्त में देखते है कि समाज में रहने वाले लोग अपनी ही परेशानियों में मशगूल है और उनको सुलझाने की जद्दो-जाहिद में लगे रहते हैं और दूसरो की तकलीफ का उनको अंदाज़ा भी नहीं रहता हैं.

इन्ही परेशानियों के कारण समाज दूसरो की परेशानियों के बारे में सोच भी नहीं पाता. लेकिन आज भी कुछ ऐसे लोग दुनिया में मजूद हैं जो अपनी परेशानियों से बढ़कर दुसरे की तकलीफ को समझते हैं.

ऐसी ही सोच रखने वाली इंग्लैंड की फाहमा मोहम्मद जिन्होंने सबसे कम उम्र में डॉक्टरेट की उपाधि हासिल करके नया कीर्तिमान बनाया हैं.

फाहमा ने सोमालियाई औरतों और लड़कियों के हक़ों के लिए आवाज़ उठाकर वहां ऐसा बदलाव लाने की मुहीम छेड़ी, जिसके लिए आज उन्हें इंग्लैंड की यूनिवर्सिटी ऑफ़ लीसेस्टर की तरफ से डॉक्टरेट की उपाधि से नवाज़ा जा रहा है.

फाहमा 14 साल की थी जब उन्होंने सोमालिया में देखा कि सोमालिया में महिलाओं और लड़कियों में खतना करने यानी फीमेल जेनिटल म्यूटिलेशन के खिलाफ आवाज उठाई क्योंकि इस प्रथा से महिलाओं और लड़कियों में संक्रमण फैलने और मौत होने की घटनाएं काफी ज़्यादा होती हैं.

फाहमा को उनकी इस मुहीम के ल;ये पूरे विश्व में प्रशंसा हों रही हैं साथ ही यूनाइटेड संघ के सेक्रेटरी जनरल बान की-मून ने फाहमा से निजी तौर पर मिलकर और कई कार्यक्रमों के दौरान भी की.

Key-Words: Fahma Mohammad, England, Student, Somalia