Home यूरोप इजराइल के इस करीबी देश ने अपनी एम्बेसी को जेरुसलम में शिफ्ट...

इजराइल के इस करीबी देश ने अपनी एम्बेसी को जेरुसलम में शिफ्ट करने के लिए किया इनकार

इसरायली अखबार ने कहा की “चेक गणराज्य ने अपने एम्बेसी फैसले को वापस ले लिया है” , जो की पहले लिया गया था की “चेक गणराज्य इजराइल में स्थित अपने दूतावास को कब्जाए गए ईस्ट जेरुसलम में शिफ्ट करेगा.”

इजराइल के है करीब 

मिडिल ईस्ट मॉनिटर की खबरों के अनुसार चेक गणराज्य यूरोपीय संघ में इजराइल का करीबी दोस्त है, जिसे तेल अवीव से जेरुसलम में एम्बेसी स्थान्तरित करने के फैसले को मजबूरन हो त्यागना पड़ा लेकिन चेक गणराज्य अपने कुछ हिस्से को स्थानांतरण करने की सोच रहा है.”

पेपर के मुताबिक, जो प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के कार्यालय के करीब है, प्राग का निर्णय यूरोपीय संघ के विदेश नीति प्रमुख फेडेरिया मोगेरिनी और जर्मनी और फ्रांस समेत कुछ प्रमुख ईयू देशों द्वारा दबाव डालने के परिणामस्वरूप आया है. मिडिल ईस्ट मॉनिटर की खबरों के अनुसार ईयू नीति के पतन को रोकने के प्रयासों के हिस्से के रूप में है जो यरूशलेम को इजरायल की राजधानी के रूप में नहीं पहचानते हैं.”

ट्रम्प का जेरुसलम फैसला 

दिसंबर में, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने यरूशलेम को इजरायल की अविभाजित पूंजी और तेल अवीव से अमेरिकी दूतावास को 15 मई को कब्जे वाले शहर में स्थानांतरित करने की योजना के बारे में अपने प्रशासन के फैसले की घोषणा की है.इजराइल स्थित अपनी एम्बेसी को तेल अवीव से जेरुसलम में शिफ्ट करने की योजना अमेरिका के साथ-साथ ग्वाटेमाला की भी है. जिसने यूएन में हुई वोटिंग में इजराइल के पक्ष में वोट किया था.जो की उस दौरान हुई थी जब ट्रम्प ने इजराइल के पक्ष में एक फैसला लिया था की वह जेरुसलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता देंगे.

ट्रम्प के इस फैसले की दुनियाभर में की गयी थी निंदा और जगह-जगह ट्रम्प के पोस्टर जलाये गए थए. ट्रम्प के इस फैसले ने मिडिल ईस्ट में एक नयी विरोध लहर को जन्म दिया था.