Home समस्याएँ ‘खाड़ी देशों में काम करने वालो को नही है कोई प्रॉब्लम’

‘खाड़ी देशों में काम करने वालो को नही है कोई प्रॉब्लम’

सच पूछो तो यहाँ कोई प्रोब्लम नहीं है सबसे बरी बात तो ये है की यहाँ कितने आदमी रहते है उस में से अगर 10,000 लोगों को कुछ परेशानी है तो उसे नहीं गिनती करना चाहिय उसे कई गुना ज़दा लोग यहाँ बहुत सालों से अपना घर परिवार चला रहा है और अभी अच्छे से है हमने यहाँ मेरा कैम्प में बहुत से लोगों से ये बात जाना चाहा कि Indian को यहाँ क्या प्रोब्लम होता है सभी ने अपनी अपनी बात रखी उसका निचोढ़ यह है कि सभी अपना घर परिवार से दूर रहते है और यही लोग में से कुछ लोग अपनो को भूल के अच्छा से रहे है कुछ लोग नहीं भूल पाते है जो भूल जाते है ओ तो ठीक है पर जो नहीं भूल पाते उसे यहाँ की ज़िंदगी अच्छी नहीं लगती है और कुछ लोग आलसी होते है जो काम नहीं करना चाहते बस लालच में चल आते है उन्हें प्रोब्लम दिखने लगता है यह नहीं तो कितने सालों से लोग यहाँ रह रहे है प्रोब्लम होता तो कोई नहीं रहता

यहाँ इसे भी लोग हमने देखा जो इंडिया में 2000 कमाने का लाइक नहीं है और यहाँ 20,000 कमा रहे है तो भाया कुछ पाने के लिय तो कुछ खोना परेगा ही. लोग जितना यहाँ मेहनत करके 20,000 कमा लेता है उतना मेहनत अगर इंडिया में करेगा तो 5,000 भी नहीं कमा पाएगा और पहली बात जो सबसे ज़रूरी है ओ ये की यहाँ लोग सुकून से रहते है हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई सभी indian भाई की तरह रहते है कभी आप ये तो नहीं सुना होगा की गल्फ़ में हिंदू और मुस्लिम में लड़ाई हो गया और कभी भी नहीं सुनिएगा कायेंकि यहाँ का सिस्टम अच्छा है हम यहाँ अलग अलग कम्पनी में ५ साल से रह रहे है कुछ लोग यहाँ आते ही कहते है की कम्पनी ख़राब है हम घर जाएँगे तो आप ही बताई की यहाँ इंडिया से आदमी लाने के लिय जो कम्पनी ख़र्च करती है ओ रूपए कम्पनी को कान देगा indian सरकार नहीं देगा और सबसे बरी बात उसी कम्पनी में इंडिया का और भी लोग रहते है जो अच्छा से रह जाते है जो लोग कहते है कि गल्फ़ में बहुत प्रोब्लम है उसे हम यही कहना चाहेंगे की गल्फ़ में और भी यहाँ लोग रह रहे है जिसका दिमाग़ है ओ पागल नहीं है जो इतने सालों से रह रहे है इंडिया में हम जितना ३ साल में कमाए थे जो मिला भी नहीं उतना रुपया यहाँ एक महीना में कमाते है और ५ तारिक को मिल भी जाता है। जो कि इंडिया में नहीं है। इंडिया में जो अमीर है उसी का सिर्फ़ इज़्ज़त होता है।

यहाँ ग़रीब का भी उतना ही इज़्ज़त होता है। जितना अमीर का होता है यहाँ भूखा कोई नहीं रहता है चाहे ओ कितना भी ग़रीब हो। प्रोब्लम कहाँ है इधर आप के पास प्रोब्लम बताने वाले अभी बहुत है पर सभी उसमें से ९०% प्रोब्लम बे बुनियाद होगा उसे हम साबित भी कर सकते है हाँ १०% लोगों के साथ है प्रोब्लम और उसके जिम्मेदार वो  ख़ुद है यहाँ का गवर्नमेंट नहीं. सबसे ज़रूरी बात तो ये है की अगर भारत सरकार का उतना ही ताक़त है तो गल्फ़ सा सभी आदमी को भारत में उतना ही सैलरी पर रोज़गार दे सकता है? यहाँ का बस एक ही प्रोब्लम है की ज़दा से ज़दा लोग अपनो से दूर रहता है

photo

नोट – यह लेखक के निजी विचार है WNA इसकी ज़िम्मेदारी नही लेता

सभी पाठको से गुज़ारिश है की लेख भेजते समय लेख के अंत में अपना नाम और ईमेल ज़रूर लिखे