अगर आप बाजारों में मिलने वाली पानी की बोतल, जिन पर बड़े-बड़े ब्रांड का नाम लिखकर महंगे में बेचा जाता है, का सेवन करते हो तो आपको अब सावधानी बरतनी चाहिए, क्योंकि उस पानी को पीने से आपके स्वास्थ्य में भी असर पड़ सकता है. आपको तरह-तरह की बीमारियों का शिकार होना पड़ सकता है क्योंकि फ्रेडोनिया विश्वविद्यालय के एक शोधकर्ता Sherri Mason के दावे के अनुसार इन बोतल के अंदर प्लास्टिक पाया गया.

बाजारों में मिलने वाली पानी की ब्रांडेड बोतल पर रिसर्च करने के बाद पता चला है की इन ब्रांडेड पानी की बोतल में पैकेजिंग करते समय प्लास्टिक के कुछ अवशेष बोतल के अंदर चले जाते हैं.

किसने की रिसर्च ?

रिसर्च को अमेरिका की एक नॉन प्रॉफिट संस्था Orb Media ने इसे जारी किया है, अमेरिका के न्यूयार्क में स्थित फ्रेडोनिया विश्वविद्यालय के एक शोधकर्ता Sherri Mason ने दावा किया है कि दुनियाभर से लिए गए बोतलबंद पानी के 93 प्रतिशत नमूनों में प्लास्टिक के अवशेष पाए गए हैं.

इन ब्रांड की बोतल में पाए गए प्लास्टिक अवशेष

शोधकर्ताओं ने ब्राज़ील,चाइना,इंडिया,इंडोनेशिया,केन्या,लेबनान,मेक्सिको,थाईलैंड और अमेरिका में 250 बोतल के पानी का परिक्षण किया, जिसमे 93 % ब्रांड में पानी के अवशेषों की मात्र पायी गयी, जिनमे ब्रांड के नाम Aqua, Aquafina, Dasani, Evian, Nestle Pure Life और San Pellegrino का नाम मुख्य तौर पर दिया गया है.

यह अवशेष पाए गए

रिसर्च में पाया गया की बोतलबंद पानी के अंदर पाए जाने वाले दूषित पदार्थों में पॉलीप्रोपीलीन, नायलॉन और पॉलीथीन टेरेफेथलेट (पीईटी) शामिल थे, जो बोतल कैप्स बनाने के लिए इस्तेमाल होता है.

क्या कहा शोधकर्ता ने ?

गल्फ न्यूज के अनुसार अध्ययन में, मेसन ने कहा की “हमने देखा की पाए गए 65% कण वास्तव में टुकड़े थे और फाइबर नहीं थे, मुझे लगता है कि यह पानी बोतल भरने की प्रक्रिया के माध्यम से आ रहा है. मुझे लगता है कि हम जो प्लास्टिक देख रहे हैं, वह बोतल से ही आ रहा है, यह पानी की बोतल भरने की औद्योगिक प्रक्रिया से आ रहा है.”

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि “एक सिंगल बोतल में कण की रेंज 10,000 से शून्य तक होती है.

औसतन, 100 माइक्रोन (0.10 मिलीमीटर) आकार की श्रेणी में प्लास्टिक के कण – “माइक्रोप्रॅलिसिक्स” माना जाता है – प्रति लीटर 10.4 प्लास्टिक कणों की औसत दर पर पाया गया. यहां तक ​​कि छोटे कण अधिक सामान्य थे.

यह ब्रांड भी हैं शामिल

दूषित प्लास्टिक वाले अन्य ब्रांडों में बिस्लेरी, इपुरा, गोरोलस्टाइनर, मिनलबा और वाहाहा भी शामिल हैं. विशेषज्ञों ने यह भी चेतावनी दी है कि ऐसे प्रदूषण से उत्पन्न मानव स्वास्थ्य बिगड़ सकता है.

टेप वाटर में भी पाए गए दूषित अवशेष

Orb Media की पुरानी रिपोर्ट के अनुसार टेप वाटर में भी कुछ अवशेष प्लास्टिक के पाए गए, हालाँकि यह काफी कम मात्रा में पाए गए, जिस पर मेस्सन ने कहा की “नल का पानी बोतलबंद के पानी से सुरक्षित है.”

न्यूज़ अरेबिया एकमात्र न्यूज़ पोर्टल है जो अरब देशों में रह रहे भारतीयों से सम्बंधित हर एक खबर आप तक पहुंचाता है इसे अधिक बेहतर बनाने के लिए डोनेट करें
डोनेशन देने से पहले इस link पर क्लिक करके पढ़ें Click Here

वर्ल्ड न्यूज़ अरेबिया का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें :-


आज की पसंदीदा ख़बरें
Loading...

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here