Home मिडिल ईस्ट इजराइल की जेल में 15,000 फिलिस्तीनी कैदी कर रहे हैं भूख हड़ताल

इजराइल की जेल में 15,000 फिलिस्तीनी कैदी कर रहे हैं भूख हड़ताल

मरवान अलबरगूसी की अध्यक्षता में 15000 फिलीस्तीनी कैदियों ने 17 अप्रैल से अनशन शुरू कर दिया है और उनका नारा है “स्वतंत्रता और सम्मान सभी कैदियों के लिए”।

 इस हड़ताल कैदियों के प्रतिनिधि और जेल अधिकारियों के बीच उनकी स्थिति में सुधार लाने के होने वाली वार्ता के विफल होने के बाद से जा रहा है।

क़ैदी असक़लान, नफ़ख़ा, रूमून, हदारीम, जलबू और बेएर अलसबअ की जेलों में अनशन कर रहे हैं। मरवान अलबरगूसी की अध्यक्षता में गाजा और पश्चिमी तट के अधिकारी और जनता इस अनशन का समर्थन कर रहे हैं। अलबरगूसी ने कहा है कि वह सभी कैदियों से उनकी रक्षा के लिए इस हड़ताल शुरू करने जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह हड़ताल फिलीस्तीनी कैदियों के साथ एकजुटता के दिन शुरू किया गया है, एक लाख फिलिस्तीनियों पर जेलों में जसमी और रूही अत्याचार किया जा रहा है।

अलबरगूसी ने अपने संदेश में कहा कि वह जेल की अपनी छोटी से सेल से अपनी हज़ारों क़ैदियों की तरफ़ से अपनी आवाज़ उठा रहे हैं, वह लोग जिनके अपने अधिकारों की रक्षा, स्वतंत्रता और सम्मान के लिए जेल जाना पड़ा है, यह सभी अनिश्चित कालीन अनशन पर जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह अनशन फिलीस्तीनी कैदियों के साथ एकजुटता दिवस के अवसर पर शुरू किया गया है, एक लाख फिलिस्तीनियों पर जेलों में शारीरिक और मानसिक अत्याचार किया जा रहा है।

गौरतलब है कि फिलीस्तीनी संसद ने 1974 में 17 अप्रैल को फिलीस्तीनी कैदियों के साथ एकजुटता का दिन घोषित किया था।

अलबरगूसी ने ने कहा कि क़ैदियों ने अब दसियों हड़ताले की हैं, यह क़ैदी पिछली आधी सदी से जेल की सिलाखों के पीछ अत्याचार झेल रहे हैं, ज़ायोनियों द्वारा उनकी हत्या कर दी जाती है और सही चिकित्सकीय सहायता न मिल पाने के कारण अब तक 200 से अधिक फ़िलिस्तीनी कैदी शहीद हो चुके हैं।

उन्होंने जनता, राजनीतिक नेताओं और महमूद अब्बास से मांग की कि वह कैदियों की रिहाई के लिए आवश्यक क़दम उठाएं।